IPL
IPL

ड्यूटी और परिवार के बीच पुलिस परेशान, कोरोना पीड़ित पत्नी और बेटी के लिए DSP ने दिया Resigns

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की पुलिस इस समय बड़ी कठिनाइयों से जूझ रही है। एक तरफ ड्यूटी का फर्ज तो दूसरी तरफ परिवार। ऐसा ही मामला झांसी से आया है। यहां के क्षेत्राधिकारी (CO) सदर मनीष सोनकर अपने फर्ज के उलझनों में फस गए। इसलिए उन्होंने अपने परिवार के लिए नौकरी से इस्तीफा (Resigns) दे दिया है।

कोरोना पीड़ित पत्नी और अपनी 4 साल की बेटी की देखभाल के लिए छुट्टी न मिलने की वजह से मनीष सोनकर ने झांसी के SSP रोहन पी कनय को राज्यपाल को संबोधित अपना इस्तीफा (Resigns) भेज दिया है।

इस संबंध में SSP रोहन पी कनय ने बताया है कि मनीष द्वारा दिये गए इस्तीफे की जानकारी उच्च अधिकारियों को दी गई है, उनके सलाह मशवरा के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा। 2005 बैच के पीपीएस अफसर मनीष सोनकर झांसी में सीओ सदर के पद पर तैनात हैं। कोरोना काल के दौरान मनीष एक ही घर में पत्नी और बच्चे से अलग रह रहे थे।

बताया जा रहा है कि उनकी पत्नी को तेज बुखार आ रहा था और वो खुद 20 अप्रैल को तेज बुखार से पीड़ित थे। पांच बार कोरोना जांच कराने के बाद भी रिपोर्ट नेगेटिव रिपोर्ट आई लिहाजा मनीष दवाइयों के साथ सरकारी ड्यूटी निभाते रहे।

ये भी पढ़ें: कोरोना से रक्षा के लिए मनकामेश्वर Math Temple में मंहत ने किया महा अभिषेक

पत्नी है डॉक्टर

उनकी पत्नी होम्योपैथिक डॉक्टर है और इसी के चलते उनके ध्यान रखने की वजह से मनीष स्वस्थ हो गए और लॉकडाउन को लागू करवाने मीटिंग में मौजूद रहने, चेकिंग, क्राइम इन्वेस्टीगेशन के काम में लग गए।

ये भी पढ़ें: Bill Gates और मेलिंडा को नहीं रहना साथ, 27 साल साथ गुजारने के बाद लिया तलाक

पत्नी आई पॉजिटिव

30 अप्रैल को मनीष की पत्नी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई फिर आइसोलेट हो गई और 4 साल की बेटी के साथ मनीष उसी घर में अलग रह रहे थे और जिम्मेदारी मनीष के ऊपर आ गई। इसी बीच पंचायत चुनाव में मनीष की मतगणना में ड्यूटी लग गई थी। इस कारण उन्होंने एसएसपी से अपना हालात बताकर एक से 6 मई तक कि छुट्टी मांगी, लेकिन उनकी ड्यूटी 2 से 3 मई तक बड़ागांव ब्लॉक के पंचायत चुनाव की मतगणना में लगा दी गई। बस फिर क्या अपने परिवार के लिए उन्होंने आने पद यानी अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया।

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button