पुलिसकर्मी किसी के लालच में न आए, सरकार हमें तनख्वाह देती है

राजस्थान के अलवर जिले में पुलिस उपअधीक्षक सपात खा के तीन लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़े जाने के बाद जिला पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने शुक्रवार को पुलिस अफसरों की क्लास लेने के लिए क्राइम मीटिंग बुलाई।

अलवर: राजस्थान के अलवर (Alwar) जिले में पुलिस उपअधीक्षक (DCP) सपात खा के तीन लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़े जाने के बाद जिला पुलिस अधीक्षक (SP) तेजस्वनी गौतम ने शुक्रवार को पुलिस अफसरों की क्लास लेने के लिए क्राइम मीटिंग (Crime meeting) बुलाई। मीटिंग में तेजस्वनी गौतम ने साफ कह दिया कि सरकार हमें तनख्वाह देती हैं। उसी में संतुष्ट रहकर काम करें। किसी के लालच में नहीं आएं।

तेजस्वनी गौतम ने शुक्रवार को पुलिस अधिकारियों की बैठक में यह भी कहा, ‘हम लीगल काम करने के लिए हैं। कोई भी लालच देने की कोशिश करें तो उसमें फंसे नहीं। किसी पुलिसकर्मी (Policeman) की कोई शिकायत नहीं आनी चाहिए। अगर आई तो फिर सख्त एक्शन लिया जाएगा। किसी भी पुलिसकर्मी (Policeman) की शिकायत कंट्रोल रूम पर भी की जा सकती है।

ये भी पढ़ें : ‘निर्भया फंड’ को लेकर मचा घमासान, जाने क्यों दायर हुई जनहित याचिका?

बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, उप पुलिस अधीक्षक एवं थानाधिकारी भी मौजूद रहे हैं।
गौरतलब है कि दो दिन पहले अलवर डीएसपी सपात खान और कांस्टेबल असलम को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने तीन लाख की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया था। डीएसपी ने 13 केस में एक व्यक्ति को छोड़ने के लिए 13 लाख रुपए मांगे थे। इसकी पहली किस्त के तौर पर वह व्यक्ति 3 लाख रुपए देने पहुंचा था। जिससे घुस मांगी थी उसी ने एसीबी से शिकायत की थी। एसीबी ने 7 जनवरी को डीएसपी और कांस्टेबल दोनों को जेल भेज दिया है।

Related Articles