नीति आयोग की बैठक : केजरीवाल के सपोर्ट में ये चार मुख्यमंत्री, LG मामले पर छिड़ सकता घमासान

नई दिल्ली। नीती आयोग की बैठक शुरू हो चुकी है। पीएम मोदी की अध्यक्षता में इस बैठक की शुरुआत की गई। वेलकम स्पीच के साथ पीएम मोदी ने बैठक में शामिल होने आए तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों का स्वागत किया। पीएम मोदी ने इस बैठक को देश में ऐतिहासिक बदलाव करने वाला मंच बताया। साथ ही उन्होंने देश में बाढ़ प्रभावित हिस्सों के लिए व्यापक कदम उठाने की बात कही। इस बैठक को काफी अहम इसलिए माना जा रहा है, क्योंकि केंद्र और राज्यों के योजनाओं के बहाने भी यहां केंद्र और राज्यों के बीच संबंधों पर काफी कुछ गेम यहां शुरू होंगे।

केजरीवाल के समर्थन में आए चार सीएम, LG से वक्त न…

नीती आयोग

इसके साथ ही केजरीवाल के धरने की पॉलिटिक्स के चलते विपक्ष भी अपना मोर्चा तेज करने की जुगत में है। चार राज्यों के मुख्यमंत्री भी केजरीवाल का सपोर्ट करने के लिए इस बैठक में शामिल हुए हैं।

खबरों के मुताबिक़ नीति आयोग की बैठक में पीएम मोदी ने सबसे पहले कहा कि देश के कुछ हिस्से पिछले दिनों बाढ़ से प्रभावित थे, सबसे पहले उस राज्य को मदद की जाएगी। केंद्र की तरफ से ऐसे राज्यों को हरसंभव मदद दी जाएगी।

नीति आयोग की बैठक में कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी और केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन शामिल हो रहे हैं।

अमरनाथ यात्रा से पहले कश्मीर में तबाही मचाने के लिए इकट्ठा…

इन दोनों मुख्यमंत्रियों का कहना है कि वो नीति आयोग की बैठक में पीएम मोदी के सामने दिल्ली के LG की शिकायत करेंगे। अब सबकी नजर इस मुद्दे पर पीएम मोदी की प्रतिक्रिया पर टिकी है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार को तुरंत इस समस्या को सुलझाना चाहिए और सरकार को लोगों के लिए काम करने देना चाहिए। इस वजह से ही हम यहां आए, हम अपनी एकजुटता जताते हैं।

वहीं कर्नाटक के सीएम के कुमारस्वामी ने भी कहा कि हम दिल्ली के मुख्यमंत्री के साथ अपनी एकजुटता दिखाने के लिए आए हैं।

जबकि केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने इस विवाद के लिए सीधे केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। इसके अलावा चंद्रबाबू नायडू भी केजरीवाल के समर्थन में उतर आए हैं।

हालांकि ये चारों मुख्यमंत्री दिल्ली में नीति आयोग की बैठक में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे हैं। शनिवार को चारों मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पहुंचे और उनकी पत्नी, उनके माता-पिता और उनके बच्चों से मुलाकात की। इसके बाद चारों मुख्यमंत्रियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और उसमें ममता बनर्जी ने पीएम से दखल देने की अपील तक की बात कर डाली।

Related Articles