हामिद अंसारी के इंटरव्यू पर चला बीजेपी और शिवसेना का चाबुक, कहा- …तो क्यों नहीं दे दिया था इस्तीफा

0

नई दिल्ली: उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्त को ख़त्म हो रहा है, लेकिन अपने पद से जाते-जाते वह राजनीतिक दलों के निशाने पर आ गए हैं। दरअसल, अपने कार्यकाल के आखिरी दिन एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में हामिद अंसारी द्वारा दिया गया भाषण राजनीतिक दलों को बिलकुल भी रास नहीं आया है। इंटर के दौरान हामिद अंसारी ने मुस्लिमों में बेचैनी का अहसास की बात कही थी, जिसे लेकर शिवसेना और बीजेपी दोनों ने अंसारी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

यह हमला शिवसेना सांसद संजय राउत ने दिया। उन्होंने कहा कि अगर उन्हें मुस्लिमों में बेचैनी और असुरक्षा की भावना दिखती है तो इस विषय को लेकर उन्होंने पहले ही अपने पद से इस्तीफा क्यों नहीं दे दिया। अब जब वह जा रहे हैं, तब इस तरीके का बयान दे रहे हैं। उनको पहले ही इस्तीफा देकर जनता के बीच में जाना चाहिए था। यह मुसलमानों की अंतरआत्मा की आवाज नहीं है। यूपी में मुसलमानों ने बीजेपी को वोट दिया है। इस तरह की बात करके उनके मन में भ्रम न पैदा करें।

यह भी पढ़ें: अपने कार्यकाल के आखिरी दिन उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने मुसलमानों को लेकर दिया चौंकाने वाला बयान

वहीं बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा है कि मुसलमानों के लिए पूरी दुनिया में भारत से अच्छा कोई देश नहीं है और न हिंदुओं से बेहतर कोई दोस्त।

यह भी पढ़ें : तो क्या बज चुका है भारत-चीन के बीच युद्ध का बिगुल ?, सेना खाली करवा रही सीमा के गांव

आपको बता दें कि उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के कार्यकाल का आज आखिरी दिन है। पिछले दिनों हुए उपराष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार वैंकेया नायडू की जीत हुई थी। नायडू अब इस पद पर बैठेंगे। अंसारी ने कहा है कि देश के मुस्लिमों में असुरक्षा की भावना है और घबराहट का माहौल है। उन्होंने कहा कि लोगों पर भीड़ के बढ़ते हमले, अंधविश्वास का विरोध करने वालों की हत्याएं और कथित घर वापसी के मामले भारतीय मूल्यों में आ रहे विघटन के उदाहरण हैं।

loading...
शेयर करें