आगामी चुनाव के लिए तैयार होने लगी सियासी जमीन, यूपी में भीम आर्मी लड़ेगी चुनाव

लखनऊ:यूपी में विधानसभा चुनाव के लिए सियासी जमीन तैयार होने लगी है। बता दें कि यूपी में विधानसभा चुनाव 2022 में होंगे। सोमवार को भीम आर्मी भारत एकता मिशन के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद और पूर्व मंत्री सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने मुलाकात की। चंद्रशेखर नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जारी प्रदर्शनों में हिस्सा लेने के कारण चर्चा में हैं और यूपी में विधानसभा चुनाव लड़ने का एलान कर चुके हैं।

चंद्रशेखर 15 मार्च को राजनीतिक पार्टी की घोषणा करेंगे। उन्होंने लखनऊ पुलिस पर घंटाघर में चल रहे आंदोलन में शामिल न होने देने का आरोप लगाया है। चंद्रशेखर ने कहा कि उनका संगठन सीएए, एनआरसी व एनपीआर के खिलाफ चलाए जा रहे आंदोलनों की देश भर में अगुवाई करेगा। चंद्रशेखर ने डालीबाग वीआईपी गेस्ट हाउस में ओम प्रकाश राजभर से मुलाकात की।

आंदोलन में बड़ी भूमिका निभाएंगे एससी, एसटी व ओबीसी

चंद्रशेखर ने कहा कि सीएए, एनपीआर व एनआरसी के खिलाफ चल रहे आंदोलन में अब एससी, एसटी व ओबीसी बड़ी भूमिका निभाएंगे। चंद्रशेखर ने बताया कि 15 मार्च को राजनीतिक पार्टी का एलान किया जाएगा। उस दिन तमाम बड़े चेहरे साथ नजर आएंगे।
उन्होंने बताया कि बसपा के पूर्व जोनल कोआर्डिनेटर रामलखन चौरसिया, बहुजन वालंटियर फोर्स के पदाधिकारी रहे अशोक कुमार चौधरी व लखनऊ महानगर कमेटी के पूर्व उपाध्यक्ष इजहारुल हक को संगठन में शामिल किया गया है। बसपा के पूर्व एमएलसी सुनील चित्तौड़ सहित बसपा से निष्कासित कई अन्य नेताओं व पदाधिकारियों ने भी चंद्रशेखर से मुलाकात की है।

Related Articles