EC से राजनीतिक दलों की अपील, कहा- सरकारी मशीनरी का न हो चुनाव में गलत इस्तेमाल

आयोग ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से चुनाव के संबंध में राय मशिवरा किया

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियों के मद्देनजर केंद्रीय चुनाव आयोग का दल 3 दिनों के दौरे पर मंगलवार को लखनऊ पहुंचा था. इस दौरान आयोग ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से चुनाव के संबंध में राय मशिवरा किया. वहीं, प्रदेश के सभी राजनीतिक पार्टियों ने इस बात पर जोर दिया कि चुनाव निष्पक्ष हों, इसमें सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग न होने पाए. वहीं, आयोग ने राज्य पुलिस अधिकारियों के अलावा केंद्रीय सुरक्षा बलों व अन्य विभागों व एजेंसियों के अधिकारियों से भी मुलाकात की.

केन्द्रीय सुरक्षा बलों की निगरानी में हो चुनाव

दरअसल, मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चन्द्रा के साथ निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार और अनूप चन्द्र पाण्डेय की टीम ने राजधानी आते ही अपना काम शुरू कर दिया. इस दौरान विपक्षी दलों ने कहा कि बगैर किसी बाधा व राजनीतिक हस्तक्षेप के स्वतंत्र, निष्पक्ष चुनाव कराया जाए. वहीं, कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधि ने कहा कि चुनाव की सुरक्षा व्यवस्था से यूपी पुलिस पूरी तरह से दूर रहे और चुनाव केन्द्रीय सुरक्षा बलों की निगरानी में सम्पन्न किए जाए.

शराब की खपत का ब्योरा जुटाने के दिए निर्देश

बता दें कि चुनाव आयोग ने आबकारी विभाग के अफसरों से कहा कि वह ध्यान रखें कि बीते साल जनवरी, फरवरी में शराब और बीयर की कितनी खपत हुई थी और इस बार कितनी खपत हो रही है. इसके अलावा दूसरे राज्यों से उत्तर प्रदेश में आने वाली शराब पर भी नजर रखी जाए. जिन राज्यों में यूपी से होकर सड़क मार्ग के जरिए शराब व बीयर लाई जाती है. उन वाहनों की सख्ती से चेकिंग की जाए.

 

यह भी पढ़ें- खुल गए भई खुल गए …..मेट्रो के दरवाजे खुल गए, पहली मुसाफिर बनी बच्ची , देखें तस्वीरें

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles