नवजोत सिद्धू के सलाहकारों की टिप्पणी से सियासी घमासान !

नई दिल्ली: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा कश्मीर और पाकिस्तान जैसे राष्ट्रीय मुद्दों के प्रति संवेदनशील बयान देने के लिए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू के दो सलाहकारों को फटकार लगाने के एक दिन बाद अन्य नेता भी इसमें शामिल हो गए।

इस बीच, सिद्धू ने अपने दोनों सलाहकार मलविंदर सिंह माली और डॉ प्यारे लाल गर्ग को पाकिस्तान, कश्मीर पर उनकी हालिया टिप्पणियों और सोशल मीडिया पर उनमें से एक द्वारा पोस्ट की गई दिवंगत प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी के विवादास्पद स्केच पर चर्चा करने के लिए अपने पटियाला आवास पर बुलाया। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी से पूछा “क्या ऐसे लोगों को भी देश में रहने का अधिकार है, पार्टी में रहना तो भूल ही जाइए?”

मनीष तिवारी बोले- ऐसे लोगों पर ऐक्‍शन ले पार्टी

सांसद तिवारी ने पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत से गंभीरता से आत्ममंथन करने को कहा कि जो लोग जम्मू-कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानते हैं और जो जाहिर तौर पर पाकिस्तान समर्थक हैं, उन्हें पार्टी का हिस्सा होना चाहिए। यह उन सभी का मजाक उड़ाता है जिन्होंने भारत के लिए खून बहाया।

अकाली दल के दलजीत सिंह चीमा ने कहा “जब देश पाकिस्तान के खिलाफ था, तब पाकिस्तान के पीएम की ओर दोस्ती का हाथ किसने बढ़ाया? पाकिस्तान के सेना प्रमुख को किसने गले लगाया? नवजोत सिंह सिद्धू। जब वह ऐसे हैं, तो सलाहकारों की शिकायत क्यों करें?”

सोशल मीडिया पर उन्होंने लिखा यह आपत्तिजनक है, मैं सिद्धू जी को उनसे राजनीतिक रूप से दूरी बनाए रखने की सलाह देता हूं, उन्हें अपनी सीमा में रहने के लिए कहना चाहिए और उन चीजों पर टिप्पणी करना बंद कर देना चाहिए जिनके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है।”

यह भी पढ़ें: काबुल हवाईअड्डे पर हमलावरों ने की अफगान सैनिक की हत्या

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles