Pollachi Sexual Harassment: CBI ने की तीन लोगों की गिरफ्तारी

पोलाची यौन उत्पीड़न (Pollachi Sexual Harassment) मामले में CBI ने की सत्तारूढ़ अन्ना द्रमुक समेत तीन लोगों की गिरफ्तारी

चेन्नई: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 2019 के सनसनीखेज पोलाची यौन उत्पीड़न (Pollachi Sexual Harassment) और ब्लैकमेलिंग मामले के संबंध में सत्तारूढ़ अन्ना द्रमुक (एआईएडीएमके) के एक पदाधिकारी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

कोयम्बटूर महिला न्यायालय

जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार लोगों में अन्ना द्रमुक के पोलाची छात्र संघ के सचिव के अरुलानंदम, बिके बाबू और केरन पॉल शामिल हैं। फिलहाल कोयम्बटूर महिला न्यायालय (Coimbatore Women’s Court) ने इन्हें 20 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। सीबीआई ने इस मामले में तमिलनाडु क्राइम ब्रांच-सीआईडी विंग से जांच की जिम्मेदारी संभालने के बाद एक साल से अधिक समय तक गिरफ्तारियां की हैं।

पोलाची यौन उत्पीड़न

इस बीच अन्ना द्रमुक पार्टी ने त्वरित कार्रवाई करते हुये अरुलानंदम को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित और पार्टी की छवि खराब करने वाली इस हरकत के लिये पार्टी के सभी पदों से हटा दिया है।

मामले का मास्टरमाइंड

उल्लेखनीय है कि तमिलनाडु सरकार ने व्यापक विरोध प्रदर्शनों और द्रमुक समेत अन्य विपक्षी दलों की सभी आरोपियों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की मांग के मद्देनजर 14 मार्च 2019 को इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी। फरवरी 2019 में घटना सामने आने के तुरंत बाद चार लोगों को गिरफ्तार किया गया था और उन्हें बाद में गुंडा अधिनियम के तहत हिरासत में लिया गया था।

गौरतलब है कि चारों आरोपियों थिरुनावुक्कारसु (मामले का मास्टरमाइंड), सतीश, सबरीराजन, वसंतकुमार पर 20 साल की उम्र में पोलाची क्षेत्र में कई युवतियों के साथ यौन उत्पीड़न करने और इसकी रिकॉर्डिंग करने का आरोप लगा था। पुलिस को चारों से जब्त किये गये मोबाइल फोन में कम से कम 40 महिलाओं के वीडियो मिले थे, जिन्हें इनके द्वारा पैसे और मजबूरन यौन संबंध के लिये ब्लैकमेल किया गया था।

यह भी पढ़ेIND vs AUS: रहाणे ने कहा, ‘क्वारेंटीन में रहना चुनौतीपूर्ण लेकिन मैच पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं’

यह भी पढ़े: बदायूं की घटना पर प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi ) ने योगी सरकार को घेरा

Related Articles