चुनाव में अमेरिकी संविधान का हुआ उल्लंघन, लाखों मतपत्रों को बदला गया : ट्रंप

इससे पहले रविवार को श्री ट्रंप ने टि्वटर पर कहा कि निकट भविष्य में ऐसे और मुकदमें दायर हो किये जा सकते हैं जो नवंबर में हुये राष्ट्रपति चुनाव की असंवैधानिकता को साबित करेगें।

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि इस बार के राष्ट्रपति चुनाव में संविधान का बड़े पैमाने पर उल्लंघन हुआ है।

ट्रंप ने रविवार को ट्वीट किया,”फर्जी न्यूज मीडिया लगातार यह क्यों बता रही थी कि जो बिडेन (राष्ट्रपति पद के डेमोक्रेटिक उम्मीदवार) जीत रहे हैं। इसने हमारा पक्ष नहीं दिखाया। 2020 के चुनाव में हमारे संविधान का बड़े पैमाने पर उल्लंघन हुआ है। हमारे कई राज्यों में बड़ी संख्या में मतदान पर्यवेक्षकों को मतगणना कक्षों से बाहर कर दिया गया और डेमोक्रेटिक सदस्यों ने लाखों मतपत्रों को बदल दिया।”

कई बड़े मुकदमें जल्द, 2020 के चुनाव हुआ संविधान का उल्लंघन

इससे पहले रविवार को ट्रंप ने टि्वटर पर कहा कि निकट भविष्य में ऐसे और मुकदमें दायर हो किये जा सकते हैं जो नवंबर में हुये राष्ट्रपति चुनाव की असंवैधानिकता को साबित करेगें। उन्होंने कहा था, “देश भर में कई मुकदमें दायर किये जा रहे हैं। ये मुकदमें हमने नहीं बल्कि उन लोगों ने दायर किये हें जिनके साथ बहुत ज्यादा दुर्व्यवहार हुआ है। कई बड़े मुकदमें जल्द ही दायर किये जाएंगे जो 2020 के चुनाव की असंवैधानिकता और चुनाव परिणाम को बदलने के लिए किये गये कामों को दर्शाएंगे।”

ट्रंप के समर्थकों ने मतों की गिनती में अनियमितताओं का दावा करते हुये पेंसिल्वेनिया, जॉर्जिया, एरिजोना, नेवादा और मिशिगन समेत विभिन्न राज्यों में कई मुकदमें दायर किये हैं।

बिडेन अपनी जीत की घोषणा के साथ कर चुके हैं राष्ट्र को संबोधित

अमेरिकी मीडिया का दावा है कि तीन नवंबर को हुये राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन ने जीत हासिल की है। बिडेन भी अपनी जीत की घोषणा करते हुये राष्ट्र को संबोधित कर चुके हैं। चुनाव परिणाम अभी तक पूरी तरह स्पष्ट नहीं किये गये हैं और ट्रंप का दावा है कि उन्होंने जीत हासिल की है लेकिन धोखाधड़ी से उन्हें हराया गया है।

ये भी पढ़ें : कराची किंग्स और लाहौर कलंदर्स में होगा खिताबी मुकाबला

Related Articles

Back to top button