प्रणब दा पंचतत्व में हुए विलीन, बेटा बोला ‘नहीं कर पाया इच्छा पूरी’

नई दिल्ली: देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का आज मंगलवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया। उनके बेटे अभिजित मुखर्जी ने उनको मुखाग्नि दी। इस दौरान अभिजीत का दर्द छलक पड़ा और वो बोले की कोरोना के चलते वो उनकी अंतिम इच्छा पूरी नहीं कर पाए। बोले, ‘उनकी बंगाल जाने की अंतिम इच्छा थी जो अधूरी रह गई।

अभिजीत मुखर्जी बोले कि उनकी मौजूदगी हमारे परिवार के लिए बड़ी थी, हम उसे याद करेंगे। उन्होंने कहा की कोरोना नहीं उनकी मौत का मुख्य कारण ब्रेन सर्जरी थी। जिसका असर उनके सेहत पर पड़ा। उनको पश्चिम बंगाल न ले जा पाने का मलाल हमेशा रहेगा।

Related Articles