प्रणब मुखर्जी का खुलासा – जन्म से ही ऐसी हैं ममता बनर्जी, उनके कारण मेरी बेइज्जती हुई

0

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अपने नई किताब ‘द कोएलिशन ईअर्स’ में कई खुलासे किए हैं। उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने को लेकर कई बातें कही हैं। उन्होंने बताया कि ममता ममता उन्हें अपमानित और शर्मिदा करते हुए एक बैठक से उठकर चली गई थीं। इतना ही नहीं प्रणब ने ममता को ‘जन्मजात विद्रोही’ करार दिया है।

पार्टी इकाई में खुले चुनाव की मांग की

पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि ममता ने निडर और आक्रामक रूप से अपना रास्ता बनाया और यह ‘उनके खुद के संघर्ष का परिणाम’ था।उनकी इस विशेषता को वर्ष 1992 में पश्चिम बंगाल कांग्रेस के संगठनात्मक चुनाव के एक प्रकरण से बेहतर समझा जा सकता है, जिसमे वह हार गई थीं। प्रणव ने याद किया कि उन्होंने अचानक अपना दिमाग बदला और पार्टी इकाई में खुले चुनाव की मांग की।

मुखर्जी ने लिखा कि ममता की इस प्रतिक्रिया से वह भौंचक्के रह गए

प्रणब मुखर्जी ने लिखा है कि ममता उन्हें और अन्य पर आरोप लगाती रहीं और संगठन के पद आपस में बांट लेने का आरोप लगाकर चुनाव प्रक्रिया को बर्बाद करने की बात कही। मुखर्जी ने लिखा कि ममता की इस प्रतिक्रिया से वह भौंचक्के रह गए और उन्होंने कहा कि वह तो उनके और अन्य नेताओं के अनुरोध पर मामले का कोई समाधान निकालना चाहते थे।

इससे पहले वाजपेयी सरकार को लेकर किया था खुलासा

बता दें इससे पहले प्रणब मुखर्जी ने 2004 के लोकसभा चुनाव में एनडीए सरकार के खराब प्रदर्शन को लेकर बड़ा खुलासा किया था। अपनी आत्मकथा में उन्होंने बताया था कि 2002 में हुए गुजरात दंगे का खामियाजा वाजपेयी सरकार को उठाना पड़ा। दंगे को रोकने में वाजपेयी सरकार नाकाम रही और 2004 के लोकसभा चुनाव पर इसका असर पड़ा। इसके बाद एनडीए सरकार सत्ता में नहीं आ पाई।

loading...
शेयर करें