प्रतापगढ़ बन रहा है अपराधगढ़

crime-logo-733ec2c36b900fa7

प्रतापगढ़। वैसे तो पूरे प्रदेश में अपराधियों का हौसला बुलंद है, लेकिन बात करें प्रतापगढ़ जिले की तो यहां पुलिस कुंभकर्णी नींद सो रही है और अपराधी बेखौफ अपने मंसूबे को अंजाम देने में तल्लीन हैं। महीने का कोई ऐसा सप्ताह नही जब जिले में दस हत्याएं नहीं होती हैं। बानगी के तौर पर तत्काल में हुई हत्याओं को देखा जा सकता है। अड़तालीस घंटे के भीतर डिप्टी सीएमओ और सपा के नेता को गोली मार दी गयी। बसपा नेता की भी दबंग प्रधानपुत्रों ने गोली मारकर हत्या कर दिया। जबकि कंधई थाना इलाके में घर के बाहर खड़े युवक को नकाबपोश बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार दिया। अस्पताल में उसकी हालत गंभीर है।

चारों तरफ फैली दहशत
शनिवार की देर शाम नबाबगंज थाना इलाके में सपा नेता रमाशंकर यादव की हत्या का मामला ठंडा भी नही पड़ा था कि हथिगवां थाना इलाके में स्थानीय बसपा नेता ज्वाला प्रसाद गौतम की दबंग प्रधान पुत्र ने गोली मारकर हत्या कर दिया और शव को पेड़ के नीचे फेक दिया। कंधई थाना इलाके शीतलागंज गाँव में अज्ञात बाइक सवार दो की संख्या में पहुंचे। दोनों बदमाशों के मुंह गमछे से बंधे थे। इन नकाबपोश बदमाशों ने अपने घर के सामने खड़े पच्चीस साल के विक्रम सिंह से कुछ बात किया और फिर गोली मार दिया। गोली पेट में लगी जिससे वह गिर पड़ा। इसके बाद बदमाश हवा में फायरिंग करते भाग निकले। इससे गाँव में दहशत फैल गयी। घायल विक्रम को जिला अस्पताल लाया गया जहां से उसे इलाहाबाद रेफर कर दिया गया। अस्पताल में उसकी हालत नाजुक बनी है। इस सम्बन्ध में पुलिस के आला अधिकारी बात करने की कोशिश की गई तो वे इस मामले में कुछ भी बोलने को तैयार नही।

चुनावी माहौल में बढ़ा अपराध
जिले में अपराध का ग्राफ हमेंशा गगनचुम्बी रहा है, लेकिन चुनावी माहौल शुरू होते ही यह और उपर उठ गया है। कुछ लोग इसे राजनीतिक कारण बता रहे हैं तो वहीं कुछ लोग इसे निजी और पुरानी दुश्मनी बता रहे हैं। कारण चाहे जो भी हो लेकिन इसके लिए पुलिस की निश्क्रियता और जिला प्रशासन की लापरवाही ही जिम्मेदार है। जिसका खामियाजा जिलेवासियों को भुगतना पड़ रहा है।

एक नजर में पुलिस की असफलता और अपराधियों की सफलता

1 दिसम्बर को नगर कोतवाली के प्रतापगढ़ रेलवे स्टेशन के पास जीआरपी थाने के पीछे बोलेरो चढ़ाकर हत्या के बाद अज्ञात बदमाशों ने 56 लाख रुपये लुटे।
2 दिसम्बर की रात लालगंज कोतवाली के सराय संग्रामसिंह गाँव निवासी देशपति पटेल को घर से अगवा कर पीट-पीटकर हत्या।
5 दिसम्बर को कंधई के औरिस्ता बाजार में राजेश्वर प्रसाद को दुकान पर दबंग मोनू सिंह ने गोली मारकर की हत्या।
9 दिसम्बर को नगर कोतवाली के भूयिदहा गांव में युवती के साथ बलात्कार के बाद हत्या कर लाश को कुएं में फेंका।
11 दिसम्बर की देर शाम अमेठी सीएचसी के चिकत्साधिकारी डॉ प्रभात कुमार सिंह की रेलवे क्रासिंग चिलबिला में गोली मारकर हत्या।
12 दिसम्बर को नबाबगंज थाना के आलापुर में सपा नेता रमाशंकर यादव की घर में घुसकर गोली मारकर हत्या। राजा भैया के खिलाफ लड़े थे कांग्रेस से चुनाव।
13 दिसम्बर को हथिगवां थाना इलाके में प्रधानपुत्र ने चुनावी रंजिस में बसपा नेता ज्वाला प्रसाद गौतम की हत्या। घर से बुलाकर की गयी हत्या।शव को पेड़ के नीचे फेंका।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button