प्रयागराज माघ मेले के काम समय से हो पूरे: राजेन्द्र कुमार तिवारी

उन्होने कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत जिला प्रशासन धार्मिक एवं कल्पवासी संस्थाओं के पदाधिकारियों के बात कर उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, सैनेटाइजेशन आदि के बारे में जागरूक करें

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रयागराज में अगले साल जनवरी में होने वाले माघ मेले में कल्पवासियों को स्वच्छ जल समेत सभी जरूरी सुविधायें मुहैया कराने के चाकचौबंद इंतजाम समय से पूरे करने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं.

मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने शुक्रवार को माघ मेले की तैयारियों की विस्तार से समीक्षा की. उन्होंने कहा कि माघ मेले की सभी तैयारियों को सम्बन्धित विभाग समय से पूरा करें. मेले में आने वाले कल्पवासियों के लिए कोविड प्रोटोकाॅल के दृष्टिगत सभी जरूरी व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित कर ली जाएं. स्वच्छता, सैनेटाइजेशन, सोशल डिस्टेंसिंग एवं सुरक्षा आदि के लिए सभी जरूरी इंतजाम किये जाएं. कल्पवासियों को गंगा जी का अविरल और निर्मल जल उपलब्ध कराने के लिए भी समय से सभी जरूरी उपाय अभी से सुनिश्चित कर लिये जायें.

उन्होने कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत जिला प्रशासन धार्मिक एवं कल्पवासी संस्थाओं के पदाधिकारियों के बात कर उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, सैनेटाइजेशन आदि के बारे में जागरूक करें तथा कल्पवास के लिए आने वाले लोगों को जागरूक करने में उनका सहयोग प्राप्त करें. उन्होंने कहा कि कोविड के दृष्टिगत पूरी सावधानी एवं सतर्कता बरतते हुए ही सभी जरूरी व्यवस्थाएं की जानी हैं.

श्री तिवारी ने बैठक में उपस्थित लोक निर्माण विभाग, ऊर्जा, सिंचाई पर्यावरण, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, जल निगम, गृह, पर्यटन सहित सम्बन्धित विभागों को अपनी-अपनी कार्ययोजना सहित सम्यक प्रस्ताव तत्काल उपलब्ध कराने तथा माघ मेले के लिए सभी जरूरी कार्यों को समय से शुरू कराकर मेला प्रारंभ होने से पूर्व उच्च गुणवत्ता एवं निर्धारित मानक के अनुरूप पूर्ण कराने के निर्देश दिए.

वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी प्रयागराज ने माघ मेले के लिए की जा रही तैयारियों से अवगत कराया. उन्होंने बताया कि कोविड-19 के दृष्टिगत सभी जरूरी व्यवस्थाएं की जायेंगी तथा इसमें पूरी सावधानी एवं सतर्कता बरती जायेगी. धार्मिक संस्थाओं से निरन्तर सम्पर्क में रहकर वार्ता की जा रही है तथा उनका पूरा सहयोग लिया जायेगा.

जिलाधिकारी प्रयागराज ने बताया कि इस बार 538.34 हेक्टेयर में माघ मेला प्रस्तावित है, जिसमें 04 सेक्टर होंगे. मुख्य स्नान 14 जनवरी को मकर संक्रांति, 28 जनवरी को पौष पूर्णिमा, 11 फरवरी को मौनी अमावस्या, 16 फरवरी को बसन्त पंचमी, 27 फरवरी को माघी पूर्णिमा तथा 11 मार्च, 2021 को महा शिवरात्रि का है. मेले में लोक निर्माण विभाग द्वारा पान्टून ब्रिज, चेकर्ड प्लेट पाथवे, साइनेज का कार्य, जल निगम द्वारा पेयजल व ड्रेनेज सम्बन्धी कार्य, पाॅवर कारपोरेशन द्वारा सबस्टेशन, विद्युत लाइनों का निर्माण, स्ट्रीट लाइट्स व माघ मेले के शिविरों में विद्युत कनेक्शन आदि के कार्य, स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड के दृष्टिगत सभी जरूरी व्यवस्थाएं हाॅस्पिटल्स, डाॅक्टर्स एण्ड पैरामेडिकल की तैनाती, एम्बुलेन्स की व्यवस्था व सैनीटेशन के समस्त कार्य सिंचाई विभाग द्वारा रिवर ड्रेजिंग एवं जेटी का निर्माण तथा गंगा पाॅल्यूशन कन्ट्रोल यूनिट द्वारा सीवर की टेपिंग, एसटीपी आदि के कार्य किये जायेंगे.

यह भी पढ़े: भाजपा सरकार में लूट का राज कायम, किसान बेहाल, जमाखोर मालामाल: अखिलेश

Related Articles

Back to top button