मल्टीप्लेक्स थिएटर्स में शुरू हुई फ्री में फिल्में दिखाकर दर्शक जुटाने की तैयारी

कोरोनावायरस के कारण बंद होने वाली जगहों में सबसे पहला नंबर सिनेमाघरों का ही था। मार्च में शुरू हुए लॉकडाउन से पहले ही थिएटर्स बंद कर दिए गए थे, जो अभी तक नहीं खुल पाए हैं। अब ये अंदाजा लगाया गया है कि जुलाई में ही सिनेमाघर खोले जा सकते हैं।

एग्जीबिशन ट्रेड आर्गेनाईजेशन नेशनल एसोसिएशन ऑफ थिएटर ओनर्स ने उम्मीद जताई है कि लगभग 90 फीसदी सिनेमाघर जुलाई से खुल जाएंगे। इस संस्था के साथ दुनियाभर में लगभग 98 देशों के सिनेमाघर जुड़े हुए हैं। संयुक्त राज्य अमीरात, डेनमार्क, स्विजरलैंड इस्टोनिया और न्यूजीलैंड जैसे कुछ देश हैं जहां सिनेमाघर खोल दिए गए हैं। इस समय सबकी निगाहें भारत पर टिकी हुई हैं।

हाल ही में केंद्र सरकार के एक सीनियर कैबिनेट मिनिस्टर ने कुछ चुनिंदा एक्जिबीटर्स के साथ वर्चुअल मीटिंग की थी। मंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया कि वो गृह मंत्रालय से बात करेंगे कि जुलाई में थिएटर्स खोल दिए जाएं। थिएटर्स को तमाम सावधानियों और हिदायतों का पूरा ध्यान रखना होगा। महाराष्ट्र सरकार ने भी शूट शुरू करने के लिए निर्माताओं को हरी झंडी दिखा दी है। फिलहाल यह तय नहीं है कि शूट कब शुरू होंगे लेकिन निर्माताओं ने तैयारी पूरी कर ली है। इसके निर्माता आश्वस्त हैं कि यह 17 जुलाई को थिएटर्स में पहुंच जाएगी। क्रिस्टोफोर नोलन की इस फिल्म का काफी इंतजार फैन्स के बीच है।

बता दें की यशराज फिल्म्स, रिलायंस एंटरटेनमेंट और वॉर्नर ब्रदर्स जैसे कुछ स्टूडियो एक साथ आए हैं और वह अपनी पुरानी फिल्में सिनेमाघरों को दे रहे हैं। वार्नर ब्रदर्स को इस तारीख तक सिनेमाघर खुल जाने की पूरी उम्मीद है। इसके बदले में उन्हें कोई पैसा भी नहीं चाहिए। सिनेमाघरों को नाम मात्र के लिए कोरियर का दाम चुकाना होगा। अगर सिनेमाघर चाहें तो ये फिल्में लोगों को फ्री में भी दिखा सकते हैं। दरअसल, ये स्टूडियोज चाहते हैं कि इस तरह से लोगों को सिनेमाघरों में वापस लाने की आदत डाली जाए ताकि जब वह अपनी नई फिल्में रिलीज करें तो उनसे कमाई हो सके।

Related Articles