UP में ग्राम प्रधानों का 12 मई से शपथग्रहण की तैयारी, मगर कई विजेताओं को नहीं मिलेगा मौका

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनावों के परिणाम आने के बाद अब सबकी निगाहें इसपर टिकी हुई हैं कि गांव की सरकार शपथ कब लेगी? बता दें इसके लिए पंचायती राज विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है. बकायदा प्रस्ताव तैयार किया गया है जिसके मुताबिक 12 मई से ग्राम प्रधानों को शपथ दिलाए जाने का प्रस्ताव है. शासन ने नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों व ग्राम पंचायत सदस्यों के शपथ ग्रहण और इसके साथ ही पहली बैठक कराने का प्रस्ताव भी तैयार कर लिया है. इसके मुताबिक 12 से 14 मई तक शपथ ग्रहण कराने की योजना है.

15 मई को पूरे प्रदेश में एक साथ ग्राम सभा की पहली बैठक कराने का प्रस्ताव है. इसी दिन से नवनिर्वाचित ग्राम पंचायतों के कार्यकाल की शुरुआत मानी जाएगी. प्रस्ताव पर मुहर लगने के बाद जल्दी ही ग्राम प्रधानों और ग्राम पंचायत सदस्यों के शपथ ग्रहण और पहली बैठक संबंधी दिशा-निर्देश जारी कर दिया जाएगा.

पंचायत चुनाव में परिणाम आने के बाद भी तमाम प्रधान शपथ नहीं ले पाएंगे क्योंकि सदस्य ग्राम पंचायत के लगभग 10 हजार पद रिक्त हैं. नियम यह है कि सदस्य का दो तिहाई होना अनिवार्य है. अगर सदस्य दो तिहाई नहीं होगा तो प्रधान शपथ नहीं ले सकेगा. लगभग हर चुनाव के बाद स्थिति यही रहती है. ऐसे में विकास कार्य न रुके इसलिए शपथ ग्रहण कराया जाता है, शेष पदों पर चुनाव फिर कराया जाता है. ताकि समस्या न हो. इसके साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष पद को लेकर भी चुनाव कराने को लेकर मंथन शुरू हो चुका है.

Related Articles

Back to top button