15 अगस्त की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द का राष्ट्र के नाम संबोधन

नई दिल्ली: 15 अगस्त 75वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि देश-विदेश में रहने वाले सभी भारतीयों को स्वाधीनता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!। इस वर्ष के स्वाधीनता दिवस का विशेष महत्व है क्योंकि इसी वर्ष से हम सब अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष में आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं।

भारत देश के खिलाड़ियों ने ओलंपिक खेलों में 121वर्षों में सबसे अधिक पदक जीतने का इतिहास रचा है। सभी को पता होगा कि हमारी कई पीढ़ियों के ज्ञात और अज्ञात स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्ष से हमारी आज़ादी का सपना साकार हुआ था। उन सभी ने त्याग व बलिदान के अनूठे उदाहरण प्रस्तुत किए। राष्ट्रपति ने कहा, आज मैं उन सभी अमर सेनानियों की पावन स्मृति को श्रद्धापूर्वक नमन करता हूं।

उन्होंने कहा कि हमारे देश के खिलाड़ियों ने टोक्यो ओलंपिक में अपने शानदार प्रदर्शन से देश का गौरव बढ़ाया है। ओलंपिक खेलों में भारत ने अपनी भागीदारी की 121वर्षों में सबसे अधिक पदक जीतने का इतिहास रचा है। मैं हर माता-पिता से आग्रह करता हूं कि वे इन होनहार बेटियों के परिवारों से शिक्षा लें और अपनी बेटियों को भी आगे बढ़ने के अवसर प्रदान करें।

उन्होंने कहा कि हमारे डॉक्टरों, नर्सों, स्वास्थ्य कर्मियों, की मेहनत वजह से कोरोना की दूसरी लहर पर काबू पाया जा रहा है। मैं सभी देशवासियों से आग्रह करता हूं कि सभी लोग जल्दी से जल्दी वैक्सीन लगवा लें और इसके लिए दूसरों को भी प्रेरित करें। मैं सभी देशवासियों से आग्रह करता हूं कि वे प्रोटोकॉल के अनुरूप जल्दी से जल्दी वैक्सीन लगवा लें।

Related Articles