राजनीति भेदभाव को रोके मंत्रालय:चुनाव आयोग

            

कैंपेन से विपक्षियों को आपत्ति

३१ मार्च को में भी चौकीदार कैंपेन का आयोजन बीजेपी द्वारा किया गया था| कैंपेन के तेहत नरेन्द्र मोदी ने 5०० लोगों को संबोधित किया था| इस कैंपेन को दूरदर्शन चैनेल ने तकरीबन 85 मिनट दिखाया था| इतनी देर तक कैंपेन को लाइव दिखाने पर विपक्षी दलों नें आपत्ति जताई थी| दूरदर्शन पर चुनावी कवरेज को लेकर इस बार कई सवाल उठ रहे है| विपक्षी दलों के आपत्ति के बाद चुनाव आयोग नें अब इसपर सख्ती भी बरती है| 

भेदभाव पर रोक

चुनाव आयोग नें मंत्रलाय से कहा है कि राजनीति पर भेदभाव रोका जाए| आयोग की तरफ से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से कहा गया है कि वह दूरदर्शन को आदेश देकर राजनीतिक दलों की कवरेज में उनको भेदभाव करने से मना करें। कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने आरोप लगाया था कि दूरदर्शन ने भाजपा के ‘मैं भी चौकीदार’ कार्यक्रम को लाइव दिखाया था| कैंपेन को लाइव दिखने पर चुनाव योग नें दलील देकर कहा है है कि उनकी निगरानी समिति नें रिपोर्ट दी है कि पिछले महीने दूरदर्शन नें बीजेपी की कवरेज 180 घंटे तक करी  जबकि कांग्रेस की कवरेज आधे में यानि 8० घंटे में ही ख़त्म कर दी|

 

नामों टीवी पर भी सख्त हुआ चुनाव आयोग

दूरदर्शन ने अपने जवाब में ‘मैं भी चौकीदार’ इवेंट को सरकारी कार्यक्रम बताया था. इस कार्यक्रम के अलावा भी चुनाव आयोग की नज़र अन्य राजनीतिक कार्यक्रम और प्रसारणों पर भी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर बने NaMo TV को लेकर भी चुनाव आयोग सख्त रुख अपना चुका है। चुनाव आयोग ने नमो टीवी को हर कंटेंट की जांच कर ही उसे प्रसारित करने का आदेश दिया था।

Related Articles