प्रधानमंत्री ने किया हजीरा-घोघा रो-पैक्स फेरी सर्विस का ई-उद्घाटन

प्रधानमंत्री ने कहा कि समुद्री क्षेत्र के विकास में रो-पैक्स फेरी सर्विस उत्तम उदाहरण है. इससे व्यापार की सुविधा, सर्वश्रेष्ठ कनेक्टिविटी, ईंधन की बचत और साथ ही पर्यावरण को भी लाभ होगा.

भावनगर: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपने गृह राज्य गुजरात के हजीरा और घोघा के बीच रो-पैक्स फेरी सेवा का उद्घाटन और हजीरा के नवनिर्मित पोर्ट टर्मिनल का ई-लोकार्पण किया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि समुद्री क्षेत्र के विकास में रो-पैक्स फेरी सर्विस उत्तम उदाहरण है. इससे व्यापार की सुविधा, सर्वश्रेष्ठ कनेक्टिविटी, ईंधन की बचत और साथ ही पर्यावरण को भी लाभ होगा. इस रो-पैक्स फेरी सर्विस के जरिए सालाना 80 हजार यात्री सफर कर सकेंगे. 80 हजार यात्री-गाड़ियां, कार और लगभग 30 हजार ट्रक इस नई सेवा का लाभ ले सकेंगे. किसान भी समुद्री मार्ग के जरिए सुरक्षित तरीके से अपने उत्पाद की बिक्री कर सकेंगे. इस सेवा से सौराष्ट्र के ज़िले भावनगर के घोघा और दक्षिण गुजरात के सूरत के हजीरा के बीच अभी जो सड़क की दूरी 375 किलोमीटर की है, वह समुद्र के रास्ते केवल 90 किलोमीटर रह जाएगी. जिस दूरी को तय करने में 10 से 12 घंटे का वक्त लगता था, अब उस सफर में केवल 3-4 घंटे ही लगेंगे.

मोदी ने कहा कि गुजरात में रो-पैक्स फेरी सेवा शुरू करने में काफी कठिनाइयां आईं, लेकिन इंजीनियरों और श्रमिकों ने हिम्मत के साथ काम को गति दी.

उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार ने तटीय क्षेत्र के विकास पर ध्यान केंद्रित किया है और बुनियादी सुविधाएं सुनिश्चित की हैं. गुजरात में समुद्री कारोबार के विकास के लिए आधारभूत संरचना के साथ क्षमता निर्माण पर काफी तेजी से काम हो रहा है.

केंद्रीय जहाजरानी राज्य मंत्री मनसुख मांडविया ने रो-पैक्स फेरी सर्विस को गुजरात के लिए सुनहरा अवसर करार दिया. इस अवसर पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ईश्वरभाई परमार, स्वास्थ्य राज्य मंत्री किशोरभाई कानाणी तथा सांसद सी.आर. पाटिल ने भी अपने विचार व्यक्त किए. कार्यक्रम में दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट के अध्यक्ष एस.के. मेहता भी उपस्थित थे.

यह भी पढ़े: यूपी: जमीन विवाद में दो पक्षों में चली गोलियां, सपा नेता सहित 86 पर रिपोर्ट दर्ज

Related Articles

Back to top button