प्रधानमंत्री बोले उद्योग या उद्योगपतियों से नहीं डरते, आरोप लगाने वाले पर्दे के पीछे छिपकर करते हैं मुलाकात

0

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में ‘उत्तर प्रदेश में औद्योगिक निवेश’ की 60 हजार करोड़ रुपये से अधिक की 81 परियोजनाओं की नींव रखी। इस मौके पर उन्होंने योगी आदित्यनाथ सरकार की जमकर तारीफ की। पीएम ने कहा कि मुझे खुशी है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सरकार ने निवेशकों से संवाद बनाए रखा और इनटेन्ट (इरादा) को इनवेस्टमेंट (निवेश) में बदलने के लिए माहौल बनाया। पीएम ने कहा कि इन परियोजनाओं से करीब दो लाख युवाओं को रोजगार देने के अवसर पैदा होंगे।  इस दौरान मोदी ने विरोधियों पर जमकर निशाना साधा।

पीएम ने विरोधियों पर जमकर साधा निशाना

पीएम मोदी ने कहा कि देश को प्रधानमंत्री चला सकता है या फिर पटवारी। मोदी ने नेताओं और कारोबारियों के रिश्तों को लेकर विपक्ष पर निशाना भी साधा। उन्होंने कहा कि देश को बनाने में कारोबारियों की भूमिका अहम है। हम उन्हें चोर-लुटेरा कहें, ये कैसी संस्कृति है? लेकिन जो गलत काम करेंगे, उन्हें देश छोड़ना पड़ेगा या जेल जाना होगा।

हम उद्योग या उद्योगपति से नहीं डरते- पीएम

मोदी ने इशारों-इशारों में विरोधियों दलों पर निशाना साधते हुए कहा, ”हम उद्योग से नहीं डरते, उद्योगपतियों से नहीं डरते। जब नीयत साफ और इरादे नेक हों तो किसी के साथ खड़े होने और तस्वीर खिंचाने में डर नहीं लगता। आरोप लगाने वालों की मंशा साफ नहीं होती और वे पर्दे के पीछे मुलाकात करते हैं। यहां बैठे अमर सिंह जी को सब पता है कि कौन उद्योगपति किसके कदमों में दंडवत रहते थे। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी को बिरला के साथ खड़े होने में कभी संकोच नहीं हुआ। वे उनके घर जाकर रुकते थे।”

मोबाइल प्रोडक्शन में भारत दूसरे स्थान पर पुहंचा

मोदी ने कहा, ”आज सर्विस की तेज डिलिवरी में डिजिटल इंडिया अहम भूमिका निभा रहा है। टिकट बुकिंग, टेलीफोन बिल, बिजली बिल, मोबाइल बिल, आधार जैसी तमाम सेवाओं के लिए अब लोगों को चक्कर नहीं काटने पड़ते। उन्होंने कहा कि आईटी इंडस्ट्री सालों से हमारी ताकत रही है। आज आईटी एक्सपोर्ट रिकॉर्ड स्तर पर है। 40 लाख लोग इस इंडस्ट्री से जुड़े हुए हैं। फिर भी यह सिर्फ शहरों में सीमित रह गई। पीएम ने कहा कि मोबाइल की कीमतें कम होने से इन योजनाओं का प्रसार हो रहा है। भारत दुनिया के लिए मोबाइल प्रोडक्शन हब बन रहा है। हम इस मामले में दूसरे स्थान पर पहुंच गए हैं।”

loading...
शेयर करें