‘पंजाब में आम आदमी पार्टी को रोकने के लिए प्रधानमंत्री ने SAD-BSP गठबंधन कराया’

SAD-BSP गठबंधन को लेकर AAP पार्टी के राघव चड्डा ने बोला- पंजाब में कांग्रेस, BSP, अकाली दल, BJP को प्रधानमंत्री रिमोट कंट्रोल से चलाते हैं

नई दिल्ली: AAP के राघव चड्डा (Raghav Chaddha) ने बोला कि पंजाब (Punjab) में आम आदमी पार्टी को रोकने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने शिरोमणि अकाली दल और BSP का गठबंधन कराया है। पंजाब में चारों पार्टियों (कांग्रेस, BSP, शिरोमणि अकाली दल, भाजपा) को प्रधानमंत्री रिमोट कंट्रोल से चलाते हैं। ये चारों पार्टी पंजाब में AAP को रोकना चाहती है।

SAD-BSP गठबंधन

SAD-BSP गठबंधन के बाद  शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) ने बोला कि BSP और शिरोमणि अकाली दल की सोच एक है। जब 1996 में हमारे बीच गठबंधन हुआ था उसक वक्त हमने क्लीन स्वीप किया था, इस बार भी वही होगा। पहले हमने BSP के साथ गठबंधन पंजाब में आतंकवाद के कारण छोड़ा था। कैप्टन अमरिंदर सिंह की जमानत जब्त होगी।

उन्होने कहा कि हमने भाजपा (BJP) का साथ इसलिए छोड़ा क्योंकि वह अपनी सोच से भटक गई थी। भाजपा एकतंत्रीय फैसले लेने लग गई थी। हमने उनसे कृषि बिल नहीं लाने के लिए बोला था लेकिन उन्होंने हमारी नहीं सुनी।

सुखबीर सिंह बादल ने बयान में बताया कि 1996 में भी हमने बसपा के साथ गठबंधन किया। दुर्भाग्य से, हम 25 साल तक अलग रहे। दोनों पार्टियों की एक ही विचारधारा है। सबसे बड़ा फायदा यह है कि 1+1 2 नहीं बल्कि 11 हो जाता है। 1996 में, हमने क्लीन स्वीप दर्ज किया था और अब हम इसे दोहराते हुए देखेंगे।

सुखबीर सिंह बादल ने यह भी कहा कि अकाली दल समावेशी राजनीति के लिए प्रतिबद्ध है। बाबासाहेब अंबेडकर जी के 130वें जन्मदिन पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए मैंने कहा था कि अकाली दल की सरकार बनने के बाद उपमुख्यमंत्री दलित समुदाय से होंगे। दलित सशक्तिकरण और सामाजिक न्याय के प्रति हमारी प्रतिबद्धता जारी रहेगी। अकाली दल हमेशा गरीबों के साथ खड़ा रहा है और पंजाब की प्रगति में सभी वर्गों को साथ लेकर गया है। हमारा गठबंधन इस साझा दर्शन को और भी मजबूत करेगा।

यह भी पढ़े44th GST Council Meet: ब्लैक फंगस की दवा टैक्स फ्री, वैक्सीन पर 5% GST रहेगा

Related Articles