कोरोना वैक्सीन की तलाश में प्रधानमंत्री मोदी घूमे शहर-शहर

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने सभी की नाक में दम कर रखा है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद, पुणे और हैदराबाद का दौरा किया है।

नई दिल्ली : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने सभी की नाक में दम कर रखा है। पिछले 1 साल से लगातार इसका कत्ल-ए-आम जारी है। लोगों के दिलों में इसका खौफ इस तरह घर चुका है कि लोग अब शायद खुली हवा में सांस लेने से भी कतरा रहे हैं। लेकिन इस बीच राहत की बड़ी खबर आई है जिसे सुनकर शायद सभी के चेहरे खिल उठेंगे।

पूरी दुनिया की तरह भारत में भी कोरोना वायरस की वैक्सीन का बेसब्री से इंतज़ार हो रहा है। आपको बता दें कि भारत कोरोना वैक्सीन तैयार करने के बेहद करीब है और इसी को लेकर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद, पुणे और हैदराबाद का दौरा किया और संभावित है कि ये वैक्सीन अगले साल मार्च के महीने में आ सकती है।

प्रधानमंत्री मोदी ने किया अहमदाबाद, पुणे और हैदराबाद का दौरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अहमदाबाद, पुणे और हैदराबाद का दौरा किया। पीएम ने अहमदाबाद में जाइडस बायोटैक पार्क, पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और हैदराबाद में भारत बायोटेक का दौरा किया। पीएम मोदी ने अहमदाबाद स्थित Zydus बायोटेक पार्क पहुंचकर शोधकर्ताओं से मुलाकात कर कोरोना वैक्सीन से जुड़े कई पहलुओं पर बात की। इनमें कोरोना वैक्सीन का प्रोडक्शन, स्टोरेज, डिस्ट्रीब्यूशन आदि बातें शामिल रहीं।

यह भी पढ़ें :

पीएम मोदी ने यहाँ इस पर भी बात की कि अगर वैक्सीन तैयार होती है तो सामान्य रूप से सभी को दी जाएगी या फिर कोरोना से ग्रसित होने वाले लोगों को ही ये वैक्सीन दी जाएगी। इन तमाम मसलों पर उन्होंने शोधकर्ताओं से जानकारी ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लैब दौरे पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा है कि कोरोना के खिलाफ़ लड़ाई में पीएम नरेंद्र मोदी एक सेनापति की भांति देश में किए जा रहे प्रयासों को नेतृत्व दे रहे हैं।

अगले साल मार्च तक तैयार हो सकती है वैक्सीन

बता दें की जायडस कैडिला कोरोना वैक्सीन के निर्माण में ज़ोरों-शोरों से लगी है। जायडस कैडिला ने कोरोना वैक्सीन बनाने के लिए नेशनल बायोफार्मा मिशन, विराक और भारत सरकार के बायोटेक्नोलॉजी विभाग के साथ समझौता किया है। जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन जायकोव डी नाम से आ रही है। एक अनुमान के मुताबिक अगले साल मार्च तक जायडस कैडिला की ये वैक्सीन इस्तेमाल के तैयार हो सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक जायडस कैडिला 17 करोड़ वैक्सीन बनाने की तैयारी कर रहा है।

 

 

Related Articles

Back to top button