प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आगरा मेट्रो का किया शुभारम्भ

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा मेट्रो परियोजना आगरा में स्मार्ट सुविधाओं की स्थापना से संबंधित मिशन को मजबूत करेगी।

आगरा: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को उत्तर प्रदेश की ताज नगरी आगरा में बहुप्रतीक्षित मेट्रो रेल परियोजना के निर्माण कार्य का वर्चुअल शुभारम्भ किया। इस अवसर पर 15वीं वाहिनी पीएसी परेड मैदान में आयोजित कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ और केंद्रीय शहरी आवास राज्यमंत्री हरदीप पुरी मौजूद थे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा आगरा में स्मार्ट सुविधाएं विकसित करने के लिए पहले ही लगभग 1,000 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है।

पिछले साल जिस कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का शिलान्यास करने का मुझे मौका मिला था, वो भी अब बनकर तैयार है। 8000 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की यह मेट्रो परियोजना,आगरा में स्मार्ट सुविधाओं की स्थापना से संबंधित मिशन को मजबूत करेगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा

उन्होने कहा कि देश में बुनियादी ढांचे के विकास के साथ एक बड़ी समस्या यह थी कि परियोजनाओं की घोषणा की गई थी लेकिन धन की व्यवस्था पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया था। इसलिए, परियोजनाएं वर्षों तक खींचती रहीं। मेरी सरकार ने नई परियोजनाओं को शुरू करने के साथ-साथ उनके लिए धन की व्यवस्था करने पर ध्यान केंद्रित किया।

इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि आगरा में पब्लिक ट्रांसपॉर्ट का एक नया स्वरूप मेट्रो के रूप में शुरू हो रहा है। आगरा में 26 लाख आबादी है साथ ही प्रतिवर्ष लाखों पर्यटक यहां आकर पर्यटन का लाभ लेते है। यहां के पर्यावरण में दिक्कत आ रही थी। मेट्रो रेल के अस्तित्व में आने के बाद प्रदूषण में कमी आयेगी और यातायात सुगम होगा।

शहरी विकास राज्यमंत्री हरदीप पुरी बोले आगरा में अच्छा काम किया है। पूरे देश में 100 स्मार्ट सिटी में आगरा चौथे नंबर पर है। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने 2004 से 2014 तक केवल 150 लाख करोड़ शहरी विकास योजनाओं पर खर्च हुआ था, जबकि मोदी सरकार के 2014 से 2020 तक के कार्यकाल में 10 लाख करोड़ से ज्यादा के काम हुए हैं।

आगरा मेट्रो रेल परियोजना, उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल काॅरपोरेशन के तत्वावधान में संचालित होगी। इसके तहत 29.4 किलो मीटर लम्बे दो काॅरिडोर प्रस्तावित हैं। ताज ईस्ट गेट से सिकन्दरा के बीच लगभग 14 किलो मीटर लम्बा पहला काॅरिडोर निर्मित होगा, जिसके तहत 13 मेट्रो स्टेशन होंगे। दूसरा काॅरिडोर आगरा कैण्ट से कालिन्दा विहार के बीच निर्मित होगा, जिसकी लम्बाई 15.4 किलोमीटर होगी तथा इसके तहत कुल 14 मेट्रो स्टेशन होंगे।

जारों और पर्यटन स्थलों को आपस में जोड़ा

मेट्रो रेल परियोजना से आगरा की 26 लाख की आबादी लाभान्वित होगी। साथ ही, प्रत्येक वर्ष आगरा आने वाले लगभग 60 लाख पर्यटक भी शहर में विश्वस्तरीय मेट्रो सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे। आगरा मेट्रो रेल परियोजना के रूप में आगरा शहर को एक अत्याधुनिक और वैश्विक स्तर का मास रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (एमआरटीएस) उपलब्ध हो सकेगा। आगरा मेट्रो रेल के काॅरिडोर्स इस प्रकार निर्धारित किए गए हैं कि शहर के 04 प्रमुख रेलवे स्टेशनों, बस डिपो, काॅलेजों, प्रमुख बाजारों और पर्यटन स्थलों को आपस में जोड़ा जा सके।

आगरा मेट्रो रेल शहरवासियों को पर्यावरण के अनुकूल, आरामदायक एवं बाधारहित सार्वजनिक यातायात का साधन उपलब्ध कराएगी। आगरा में ताजमहल, आगरा फोर्ट सहित अन्य विश्वप्रसिद्ध पर्यटन स्थल हैं। मेट्रो रेल सेवाओं के दृष्टिगत इन सभी स्थलों तक आवागमन सुगम होगा और इससे पर्यटक भी विशेष रूप से आकर्षित होेंगे।

गौरतलब है कि पिछले साल आठ मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कानपुर से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा मेट्रो रेल परियोजना का शिलान्यास किया गया था।

यह भी पढ़े: अखिलेश यादव बोले, किसानों की आवाज़ को नहीं दबा सकती सरकार

Related Articles

Back to top button