प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई लखनऊ एयरपोर्ट के बाहर धरने पर बैठे

लखनऊ: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई लखनऊ (Lucknow) पुलिस से बेहद खफा नजर आ रहे है। पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी आज बुधवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट के बाहर धरने पर बैठ गए। उन्होंने लखनऊ (Lucknow) पुलिस की कार्यशैली के खिलाफ धरना दिया है उनका कहना है कि उनके स्वागत के लिए एयरपोर्ट पर पहुंचे कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है। इस नाराजगी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस ने हिरासत में लिए गए कार्यकर्ताओं को छोड़ दिया।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में प्रह्लाद मोदी कह रहे है कि, ‘यहां एक प्रोग्राम में आया हूं, लखनऊ पहुंचते ही मुझे पता चला कि मेरा स्वागत करने के लिए आए हुए 100 कार्यकर्ताओं को लखनऊ पुलिस ने पकड़ कर थाने में बैठा दिया है और मुकदमा दर्ज करने की कोशिश चल रही है। जब मुझे पता चला तो मेने सोचा मेरे बच्चे जेल में रहे और मैं मुक्त रहूं तो ये ठीक नहीं है। उन्होंने लखनऊ पुलिस से कहा या तो उन्हें मुक्त करों नहीं तो मैं अनशन पर बैठ कर खाना पीना छोड़ रहा हूं। लखनऊ पुलिस बताए कि आखिर किसके आदेश पर उनको हिरासत में लिया गया। पीएमओ का आदेश है तो वह आदेश दिखाया जाए।’

ये भी पढ़ें : संबित पात्रा का विपक्ष पर तगड़ा वार: ‘राहुल चाहते हैं गोली चले, लाशें बिछ जाए’

चार दिवसीय दौरे पर प्रह्लाद मोदी

योग सोशल सोसाइटी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष माया ए आनंद ने जानकारी देते हुए बताया कि पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए चार दिवसीय दौरे पर है। उन्हें लखनऊ में रुक कर सुल्तानपुर, जौनपुर, प्रतापगढ़, प्रयागराज समेत कई जिलों में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने जाना था। पुलिस ने मंगलवार की रात को ही चिनहट निवासी हरिराम को घर से हिरासत में ले लिया था।

ये भी पढ़ें : Bigg Boss 14: गेम से पहले विनर घोषित, गूगल ने बताया नाम

मोदी ने अनशन किया खत्म

प्रह्लाद मोदी जब अमौसी एयरपोर्ट पर बुधवार को पहुंचे तो उन्हें इसकी जानकारी मिली। वहीं उनसे मिलने पहुंचे 10 से अधिक कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इस पर मोदी नाराज हो गए और उनकी रिहाई की मांग पर अनशन पर बैठ गए। हालांकि दो घंटे बाद कार्यकर्ताओं को छोड़े जाने पर मोदी ने अनशन खत्म कर दिया और सड़क मार्ग से सुल्तानपुर के लिए रवाना हो गए। उधर, एडीसीपी चिरंजीव नाथ सिन्हा ने प्रह्लाद मोदी के किसी भी कार्यकर्ता की गिरफ्तारी या हिरासत में लेने की बात से इनकार किया है।

 

Related Articles

Back to top button