इजरायली दूतावास के बाहर विस्फोट को लेकर प्रधानमंत्री नेतन्याहू का बड़ा बयान

नई दिल्ली : दिल्ली (Delhi) में इजराइली दूतावास (Israeli Embassy) के नजदीक शुक्रवार की शाम को हुए विस्फोट को लेकर इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Prime Minister Benjamin Netanyahu) ने बड़ा बयान दिया है। प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है, भारत (India) इजरायल (Israel) के अधिकारीयों और यहूदियों (Jews) की पूरी सुरक्षा रखेगा।

बता दें कि शुक्रवार की शाम को इजराइली दूतावास से करीब 100 मीटर की दूरी पर एक कम तीव्रता वाला आईईडी विस्फोट (IED explosion) हुआ था। इस विस्फोट में किसी भी तरह की जान- माल का कोई नुकसान नहीं हुआ था, सिर्फ वहां खड़ी तीन गाड़ियों के शीशे टूट गए थे।

NSA अजित डोभाल ने अपने इजराइली समकक्ष से की बात

जानकारी के अनुसार घटना के बाद NSA अजित डोभाल (Ajit Doval) ने अपने इजराइली समकक्ष मीर बेन शब्बात से फोन पर बात करके आईईडी विस्फोट की घटना और इससे जुडी जांच की जानकारी दी। जिसके बाद उन्होंने इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को घटना की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री बेंजामिन को पूर्ण विश्वास है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) इजरायल के अधिकारीयों और यहूदियों की पूरी सुरक्षा सुनिश्चित करेंगे।

विदेश मंत्रालय इजरायल के संर्पक में

वहीँ इस घटना को लेकर भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर (Foreign Minister S. Jaishankar) ने भी अपने इजराइली समकक्ष गाबी अशकेनजी से बात की है, और उन्हें आश्वस्त किये कि मामले की गहन जांच चल रही है आरोपियों को पकड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ा जाएगा। इसको लेकर विदेश मंत्रालय (foreign Ministry) ने बयान जारी कर भी कहा, नई दिल्ली (New Delhi) में इजराइली दूतावास (Israeli Embassy) के बाहर हुए विस्फोट में कोई भी हताहत नहीं हुआ है और ना ही बिल्डिंग को कोई नुकसान हुआ है। सभी कर्मचारी व अधिकारी सुरक्षित है, विदेश मंत्रालय ने कहा कि घटना को लेकर इजरायली विदेश मंत्रालय के संपर्क में है, आगे भी सूचनओं को साझा किया जायेगा।

भारत और इजरायल की कूटनीतिक दोस्ती का 29 साल हुआ पूरा

बता दें कि भारत और इजरायल (India and Israel) की कूटनीतिक दोस्ती का 29 साल पूरा हुआ है, इस अवसर पर विजय चौक पर शाम 5: 05 मिनट पर बीटिंग सेरेमनी का आयोजन किया गया था। जिसमें पीएम नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी शामिल हुए थे।  सूत्रों के अनुसार इस विस्फोट का संबध 29-29 से हो सकता है। बताया जा रहा है कि हमलवार इस विस्फोट के माधयम से खास मैसेज देना चाहते थे।

इसे भी पढ़े: दिल्ली में हुए धमाके के बाद अमित शाह ने रद्द किया पश्चिम बंगाल दौरा

Related Articles