विशेषाधिकार हनन मामला: अर्णब की याचिका पर छह नवम्बर को होगी सुनवाई

अर्णब ने महाराष्ट्र विधानसभा द्वारा विशेषाधिकार हनन के प्रस्ताव पर कार्यवाही शुरू करने के लिए उन्हें जारी कारण बताओ नोटिस को शीर्ष अदालत में चुनौती दी है।

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय महाराष्ट्र विधानसभा के विशेषाधिकार हनन मामले में रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्णब गोस्वामी की याचिका पर छह नवंबर को सुनवाई करेगा।

अर्णब ने महाराष्ट्र विधानसभा द्वारा विशेषाधिकार हनन के प्रस्ताव पर कार्यवाही शुरू करने के लिए उन्हें जारी कारण बताओ नोटिस को शीर्ष अदालत में चुनौती दी है।

अर्णब की ओर से पेश हो रहे वरिष्ठ अधिवक्ता मिलिंद साठे ने मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति वी रमासुब्रमण्यम की खंडपीठ के समक्ष दलील दी कि उनके मुवक्किल को 10 मिनट के भीतर पेश होने को कहा गया।

साठे ने कहा कि रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक को विधानसभा में पांच नवंबर को बुलाया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें पता चला है कि अब विशेषाधिकार समिति का गठन किया गया है। अध्यक्ष की ओर से नोटिस जारी किया गया है।’’

पीठ ने इस पर कहा, ‘‘विधानसभा द्वारा समन किये जाने में कुछ भी गलत नहीं है, लेकिन अगर विशेषाधिकार समिति कोई कार्रवाई करती है तो आप उसे चुनौती दे सकते हैं। मामले को छह नवंबर, 2020 को सूचीबद्ध किया जाये। इस बीच, याचिकाकर्ता को आवश्यक हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया जाता है।’’

यह भी पढ़ें- इटावा में फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर भर्ती हुए 25 शिक्षको को किया गया बर्खास्त

Related Articles

Back to top button