Priyanka Gandhi ने कहा, ‘PM आवास निर्माण पर हजारों करोड़ खर्च करने का वक्त नहीं’

नई दिल्ली: देश में तेजी से फैल रही कोरोना महामारी की वजह से अस्पतालों की जर्जर हालात देख पूरी कांग्रेस केंद्र सरकार पर चढ़ी जा रहा है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी जहां सरकार से लॉकडाउन लगाने को लेकर सुझाव दे रहे हैं। तो वहीं प्रियंका गांधी सरकार की कार्यशैली पर सवाल खड़ा कर रही है। एक लेटेस्ट ट्वीट में प्रियंका ने सेंट्रल विस्टा परियोजना के तहत बन रहे प्रधानमंत्री आवास निर्माण को लेकर सवाल खड़ा किया है। प्रियंका ने कहा है कि इस समय हजारों करोड़ों खर्च करने का समय नहीं है, इस समय लोगों की जान बचाने का समय है।

प्रियंका ने PM आवास निर्माण पर उठाए सवाल

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सेंट्रल विस्टा परियोजना के तहत प्रधानमंत्री आवास निर्माण पर 13 हजार करोड़ रुपए खर्च करने को लेकर सवाल उठाते हुए कहा है कि इस समय संसाधनों का इस्तेमाल लोगों की जान बचाने के लिए किया जाना चाहिए। प्रियंका ने ट्वीट कर कहा कि जब देश के लोग ऑक्सीजन, वैक्सीन, हॉस्पिटल बेड, दवाओं की कमी से जूझ रहे हैं तब सरकार 13,000 करोड़ से पीएम का नया घर बनवाने की बजाए सारे संसाधन लोगों की जान बचाने के काम में डाले तो बेहतर होगा। इस तरह के खर्चों से पब्लिक को मैसेज जाता है कि सरकार की प्राथमिकताएं किसी और दिशा में हैं।

राहुल ने लॉकडाउन लगाने का दिया सुझाव

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोरोना के बढ़ते केसों पर चिंता जताते हुए सरकार से संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का सरकार को सुझाव दिया है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि “भारत सरकार को समझना चाहिए कि गरीबों और मजदूरों को न्याय व्यवस्था के तहत सुरक्षा प्रदान कर महामारी को रोकने का संपूर्ण लॉकडाउन ही एकमात्र उपाय है। सरकार की निष्क्रियता के कारण कई निर्दोष मारे जा रहे हैं।”

सुरजेवाला ने भी साधा निशाना

Congress के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी इस परियोजना को लेकर सरकार पर हमला किया और कहा कि देश में कोरोना से दो करोड़ से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके है और मृतकों की संख्या दो लाख 19 हज़ार से ज्यादा हो चुकी है। जब यह स्थिति है तो ऐसे में प्रधान मंत्री यानी मोदी जी का नया घर, पी.एम दफ़्तर, मंत्रियों के दफ़्तर, संसद बनाना ज़रूरी है या जीवन रक्षक दवा, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, अस्पताल बेड उपलब्ध कराना।

ये भी पढ़ें: Corona के कहर से बचने के लिए Full Lockdown ही है एकमात्र तरीका

Related Articles