IPL
IPL

महिलाओं की सुरक्षा को लेकर योगी पर गरजीं प्रियंका, उनके गृह जनपद को लेकर बोलीं ये बड़ी बात

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने आगे लिखा “यूपी में महिलाओं के खिलाफ हर दिन लगभग 165 अपराध होने के मामले सामने आते हैं।

लखनऊ: मुख्यमंत्री ( Chief Minister ) योगी आदित्यनाथ ( Yogi Adityanath ) के गृह जिले में पुलिस ( Police ) की लापरवाही और बढ़ते महिला अपराधों को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ( Priyanka Gandhi ) ने निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने सरकार द्वारा चलाई गए ‘मिशन शक्ति’ अभियान का हवाला देते हुए CM योगी पर तंज कसा है। प्रियंका ने कहा मिशन शक्ति के प्रचार के नाम पर सरकार करोड़ों रुपये बहा रही है। लेकिन उनके गृह जिले में ही महिलाएं अवहेनलना का सामना कर रही हैं।

प्रियंका ने योगी पर बोला हमला

प्रियंका गांधी ने फेसबुक पोस्ट पर मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए योगी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा, “मुख्यमंत्री के गृह जनपद से आई खबर पढ़कर आपको अंदाजा लगेगा कि जिस सिस्टम ने अभी कुछ दिनों ही पहले महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चलाए गए ‘मिशन शक्ति’ के नाम पर झूठे प्रचार में करोड़ों रुपए बहा दिए है। प्रियंका ने कई अखबारों की कटिंग का हवाला देते हुए कहा कि इस खबर के अनुसार गोरखपुर में पिछले दिनों 12 से अधिक लड़कियों की मौत के मामले आए। इन अपराधों में सजा दिलाना तो दूर कुछ मामलों में पुलिस मृत लड़कियों की पहचान तक नहीं कर पाई।”

यह भी पढ़ें: बेखौफ अपराधियों ने इंडिगो ( Indigo ) के मैनेजर को गोलियों से भूना

थाने में भद्दी टिप्पणियां की जाती हैं

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने आगे लिखा “यूपी में महिलाओं के खिलाफ हर दिन लगभग 165 अपराध होने के मामले सामने आते हैं। पिछले दिनों ऐसे सैंकड़ों मामले सामने आए जिनमें या तो प्रशासन ने पीड़ित पक्ष की बात नहीं सुनी या फरियादी महिला से ही बदतमीजी कर दी। उन्होंने आगे लिखा, “क्या आप सोच सकते हैं कि जो सरकार महिला सुरक्षा के नाम पर अपनी पीठ थपथपाने के लिए करोड़ों रुपए के विज्ञापन देती हो उस सरकार के थानों में जब महिला शिकायत लेकर पहुंचती है, तो थाने में उस पर भद्दी टिप्पणियां की जाती हों और उसके प्रति संवेदना करने के बजाए उसका निरादर किया जाता है।”

देखें प्रियंका गांधी का फेसबुक पोस्ट:

प्रियंका गांधाी का फेसबुक पोस्ट
प्रियंका गांधाी का फेसबुक पोस्ट

उनके नारे खोखले हैं

हाथरस, उन्नाव और बदायूं में हुई घटनाओं का जिक्र करते हुए प्रयंका ने कहा, ‘यूपी सरकार के व्यवहार को पूरे देश ने देखा। महिला सुरक्षा की बेसिक समझ है कि महिला की आवाज सर्वप्रथम है मगर यूपी सरकार ने बार-बार ठीक इसके उलट काम किया। इससे यह स्पष्ट है कि उनके लिए “बेटी बचाओ” और “मिशन शक्ति” सिर्फ खोखले नारे हैं।’

यह भी पढ़ें: चौथे टेस्ट से पहले टीम इंडिया ( Team India ) के इतने खिलाड़ी चोटिल, Playing XI बनी बड़ी चुनौती

Related Articles

Back to top button