बढ़ सकती हैं चिदंबरम पिता-पुत्र की मुश्किलें, चीन समेत विदेश में कार्ति के 17 बैंक खातों का पता चला- सूत्र

नई दिल्ली: सीबीआई के शिकंजे में फंसे पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम के भी नए नए कांड निकल कर आ रहे हैं. सूत्रों के हवाले से खबर है कि जांच एजेंसियों को पता चला है कि चीन के बैंक मे कार्ति की कंपनी का खाता है. ओवरसीज चाइना बैंक कॉरपोरेशन सिंगापुर में कार्ति की कंपनी का खाता है. चीन की ही मेट्रो बैंक में भी खाता है. जो कुछ चिदंबरम करते थे उसका फायदा कार्ति से जुड़ी कंपनियों को पहुंचता था. इन कंपनियों के विदेश में 17 से ज्यादा खाते हैं. विदेशी जायदाद किन पैसों से खरीदी गई इसकी पूछताछ जारी है, सूत्रों की मानें तो कुछ नए मामले सामने आ सकते हैं.

चिदंबरम की हिरासत 30 अगस्त तक बढ़ाई गई
दिल्ली की एक अदालत ने आईएनएक्स मीडिया मामले में कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की सीबीआई हिरासत की अवधि सोमवार को चार और दिन के लिये बढ़ा दी. अदालत ने चिदंबरम को 30 अगस्त तक एजेंसी की हिरासत में भेज दिया. विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहाड़ ने सीबीआई की उस मांग को स्वीकार कर लिया कि चिदंबरम को हिरासत में लेकर पूछताछ किये जाने की अभी और जरूरत है. अदालत ने सीबीआई हिरासत के दौरान चिदंबरम के परिवार के सदस्यों और वकीलों को प्रतिदिन आधा घंटा उनसे मिलने की अनुमति दी.

CBI ने कोर्ट में कहा- चिदंबरम का सह-आरोपी से आमना सामना कराया गया
सीबीआई ने अदालत में कहा कि आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम का एक सह-आरोपी से आमना सामना कराया गया है और उनके ई-मेल के आदान-प्रदान से जांच के दौरान सबूत मिले हैं. सॉलीसीटर जनरल तुषार मेहता ने विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहाड़ से कहा कि चिदंबरम का सह-आरोपियों में से एक से आमना सामना कराया गया है. उनका कुछ अन्य आरोपियों से भी आमना सामना कराना है. इसके साथ ही आईएनएक्स मीडिया प्रा. लि. के लेनदेन से जुड़ी कुछ फाइलें भी दिखानी है. सुनवाई के दौरान सीबीआई ने सह-आरोपी के नाम का खुलासा नहीं किया. लेकिन बाद में अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि सह-आरोपी नीति आयोग की पूर्व सीईओ सिंधुश्री खुल्लर हैं.

जांच एजेंसियां हर रोज मेरी छवि धूमिल कर रही हैं- चिदंबरम
पी चिदंबरम ने सोमवार को उच्चतम न्यायालय को बताया कि आईएनएक्स मीडिया मामले में जांच एजेंसियां हर रोज उनकी छवि ‘‘धूमिल’’ कर रही हैं. इस बीच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कहा कि उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ किये जाने की जरूरत है. चिदंबरम के वकील ने शीर्ष अदालत को बताया कि ईडी आईएनएक्स मीडिया धनशोधन मामले में उनकी स्थानापन्न रूप से संलिप्तता दर्शाना चाहती है क्योंकि वह कार्ति चिदंबरम के पिता हैं. जांच एजेंसियों के अनुसार कार्ति चिदंबरम ने विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड (एफआईपीबी) के सदस्यों को प्रभावित करने का प्रयास किया था.

Related Articles