लंबे समय तक बुखार आना टाइफाइड के लक्षण हो सकते हैं. जानिए क्या है इलाज, बचाव और डाइट

टाइफाइड जिसे मियादी बुखार भी कहते हैं क्योंकि यह लंबे समय तक रहने वाला बुखार होता है. हालांकि इसके लक्षण शुरुआत में ही नजर आने लगते हैं. आमतौर पर टाइफाइड में सिरदर्द, पेट दर्द, भूख कम लगना, डायरिया जैसे लक्षण दिखने लगते हैं. टाइफाइड साल्मोनेला टाइफी बैक्टीरिया की वजह से होता है इसके अलावा मौसम में बदलाव, खराब खाना और पानी पीना, बैक्टीरियल इंफेक्शन और कमजोर इम्यूनिटी की वजह से भी होता है.

जिन लोगों को ये बुखार हो जाता है वो अपने इलाज, खान-पान और बचाव के तरीकों को लेकर परेशान हो जाते हैं. हालांकि ज्यादातर लोग परहेज और डॉक्टर्स की दवाओं से कुछ दिनों में ही ठीक हो जाते हैं. ऐलोपेथी के अलावा आयुर्वेद में भी मियादी बुखार की दवा है. इसके अलावा आयुर्वेद में खान-पान में बदलाव पर भी जोर दिया जाता है. लेकिन किसी भी तरह का कोई इलाज करने से पहले आपको डॉक्टर की राय जरूर लेनी चाहिए. तो आइये जानते हैं टाइफाइड के लक्षण, बचाव और डाइट के बारे में साथ ही जानते हैं कि कितने दिन में ये बुखार ठीक हो जाता है.

टाइफाइड के लक्षण
कई बार बुखार आने पर जब आप टाइफाइड का टेस्ट कराते हैं तो रिपोर्ट नेगेटिव आकी है. लेकिन धीरे धीरे टाइफाइड के लक्षण नजर आने लगते हैं जिससे आप समझ सकते हैं कि आपको टाइफाइड फीवर है या नहीं. ये लक्षण हैं
1-सिर में दर्द होना

2 कमजोरी और थकान महसूस होना
3 मांसपेशियों में दर्द होना
4 बुखार में बहुत पसीना आना
5 दस्त या कब्ज होना
6 त्वचा पर रैशेज
7 पेट में अत्यधिक सूजन
8 सूखी खांसी आना
9 भूख न लगना
10 वजन कम होना
11 पेट में दर्द

टाइफाइड का इलाज
अगर आपको बताए गए लक्षणों में से कुछ भी नजर आ रहा है तो आपको सबसे पहले डॉक्टर के पास जाना चाहिए. डॉक्टर टाइफाइड का टेस्ट कराने के लिए कहेगा. रिपोर्ट आने पर डॉक्टर कुछ एंटीबायोटिक्स दवाओं के साथ आपको आराम करने की सलाह देंगे. आयुर्वेद में भी टाइफाइड का इलाज है. आयुर्वेद के विशेषज्ञ आपको खाने पीने में बदलाव के साथ-साथ कुछ दवाएं भी देते हैं इसके अलावा कुछ घरेलू उपाय भी बताए जाते हैं.

टाइफाइड कितने दिन रहता है?
टाइफाइड को मियादी बुखार इसीलिए कहते हैं क्योंकि ये एक मियाद के बाद ही ठीक होता है. सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल और प्रिवेंशन की मानें तो टाइफाइड शरीर में धीरे-धीरे विकसित होने की संभावना होती है. शुरुआत में इसके लक्षण नजर नहीं आते. बुखार आने के एक से तीन सप्ताह बाद टाइफाइड के लक्षण दिखाई देते हैं. टाइफाइड में बुखार कम से एक सप्ताह या महीनों भी रह सकता है. टाइफाइड में हाई फीवर आता है जो कई बार 103–104°F  तक पहुंच जाता है.
टाइफाइड से बचाव  
टाइफाइट ज्यादातर खराब खाने और गंदे पानी के पीने की वजह से होता है. इसके अलावा गंदगी और संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से भी हो सकता है. इसके लिए जरूरी है कि आप साफ पानी पीएं और साफ-सफाई से बना खाना खाएं. हाथों को साफ रखें और संक्रमित व्यक्ति से दूर रहें. अगर आप इन बातों का ख्याल रखेंगे तो आप खुद को टाइफाइड फीवर से बचा सकेंगे.
टाइफाइड में डाइट
वैसे तो टाइफाइड हो या कोई और बुखार डॉक्टर हल्का खाना खाने की ही सलाह देते हैं. टाइफाइड में भी हल्का और कम खाने को कहा जाता है. इसमें आप हाई कैलोरी वाला खाना जैसे  उबले हुए आलू, केला, उबले हुए चावल, सफेद ब्रेड खा सकते हैं. इसके अलावा ज्यादा से ज्यादा लिक्विड पीने की सलाह दी जाती है. आप नारियल पानी, नीबू पानी, अंगूर, तरबूज खा सकते हैं इनमें काफी मात्रा में इलेक्ट्रोलाइट होता है इसके अलावा दलिया, दाल खिचड़ी भी खा सकते हैं डेरी प्रोडक्ट में आप दूध और पनीर खा सकते हैं

Related Articles

Back to top button