देश में होनहार पर हो रहा अत्याचार, राष्ट्रीय शतरंज खिलाड़ी सड़क पर बेच रहा चाय

धार: अक्सर लोग कहते है कि अगर आप में हुनर है तो आपको सफलता जरूर मिलेगी लेकिन ये बात गलत निकली। आप ने शायद देखा होगा कई पढ़े लिखे बीए, एमए डिग्री पाने वाले चाय बेचते है लेकिन मध्य प्रदेश के धार में रहने वाले राष्ट्रीय शतरंज खिलाड़ी (National chess players) कुलदीप चौहान भी चाय बेचने पर मजबूर हो गए है। शतरंज खिलाड़ी (chess players) ने एक पीजी कॉलेज के सामने चाय की दुकान लगा रखी है। इसकी जानकारी जब मिडिया को लगी तो वहां जाकर देखा की एक होनहार इंसान एक कॉलेज के सामने चाय की दुकान लगा रखा है।

राष्ट्रीय शतरंज खिलाड़ी कुलदीप चौहान की चाय की दुकान पर जाकर एक मीडिया रिपोर्ट ने उससे इसका कारण पूछा तो उसने बताया कि अपनी आजीविका चलाने के लिए सड़क पर चाय बेचने को मजबूर हूं। कुलदीप इस समय एक पीजी कॉलेज के बाहर चाय बेच रहे है। कुलदीप ने बताया कि, ‘मुझे आगे बढ़ने का मौका नहीं मिल रहा है और मेरे घर के हालत ठीक नहीं है इसलिए काम कर रहा हूं, सारा जीवन मैं खेल में नहीं निकाल सकता हूं।’

राष्ट्रीय शतरंज खिलाड़ी कुलदीप चौहान

ये भी पढ़ें : फ्रांसीसी अरबपति राजनेता की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत, राष्ट्रपति ने जताया शोक

आगे बढ़ने का नहीं मिला मौका

कुलदीप चौहान राष्ट्रीय लेवल पर अपने खेल का परचम लहरा चुके है। उनका कहना है कि उनके अंदर शतरंज का काफी हुनर है वो राष्ट्रीय लेवल पर जीते है, लेकिन उन्हें आगे बढ़ने का मौका नहीं मिल रहा है। वें आगे तो बढ़ना चाहते है लेकिन घर के हालातो को देखते हुए उन्हें चाय बेचनी पड़ रही है घर का खर्च चलाने के लिए। मैं पूरा जीवन खेल में नहीं निकाल सकता हूं। इस खबर के चलने के बाद इंटरनेट यूजर्स ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू को टैग करते हुए नेशनल चेस प्लेयर कुलदीप चौहान पर ध्यान देने और मदद करने का आग्रह किया है।

ये भी पढ़ें : समाजवादी परिवार मांगलिक कार्यक्रम में हुआ शामिल, भतीजे ने चाचा के पैर तो छुए लेकिन…

Related Articles