शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने शवयात्रा के लिए खोली बंद सड़कें

नयी दिल्ली:करीब दो महीने से बंद शाहीन बाग रास्ता रविवार को एक शवयात्रा ले जाने के लिए खुला। इस दौरान एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि हम एक-दूसरे का सम्मान करते हैं और आज हमने इस बंद रास्ते से शवयात्रा को जाने दिया, इसमें कोई बड़ी बात नहीं हैं। उसने कहा कि हमने इससे पहले इस रास्ते से बसों और एम्बुलेंस को भी पार होने की अनुमति दी है।

शाहीन बाग में 15 दिसंबर 2019 से नागरिकता कानून और प्रस्तावित एनआरसी के विरोध में धरना प्रदर्शन चल रहा है। इस विरोध के चलते दिल्ली से नोएडा को जोड़ने वाला कालिंदी कुंज मार्ग पूरी तरह बंद हो गया है। मतदान के लिए शुक्रवार को जामिया मिल्लिया इस्लामिया मार्ग को प्रदर्शनकारी छात्रों ने खाली कर दिया था। लेकिन मतदान खत्म होने के साथ ही शनिवार शाम से एक बार फिर प्रदर्शनकारियों ने सड़क पर कब्जा जमा लिया। शाहीन बाग में प्रदर्शन स्थल के पास शनिवार को दो संदिग्धों को दबोचा गया।

https://puridunia.com/parties-performing-for-votes-in-the-temples-of-sant-ravidas-ji-mayawati/439928/

इसी के साथ प्रदर्शन स्थल पर हंगामा होने से मौके पर पुलिस आ गई। पुलिस का कहना है कि दोनों संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई है। पकड़े गए दोनों लोग शाहीन बाग के रास्ते कालिंदी कुंज की ओर जा रहे थे, तभी प्रदर्शनकारियों ने शक के आधार पर उन्हें दबोच लिया।

Related Articles