IPL
IPL

PUBG मोबाइल के लाखों चीटर्स एप हुए बैंन, जाने वजह?

PUBG मोबाइल दुनिया में सबसे ज्यादा पसंद करने वाला मोबाइल गेम है, इसे बच्चों के साथ बड़े लोग ने भी काफी पसंद किया। यह गेम भारत में तो काफी समय से बैन चल रहा है, लेकिन दुनिया के बाकी जगहों पर अभी भी खेला जा रहा है।

नई दिल्ली: PUBG मोबाइल दुनिया में सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला मोबाइल गेम है, इसे बच्चों के साथ बड़े लोगों ने भी काफी पसंद किया है। यह गेम भारत में तो काफी समय से बैन चल रहा है, लेकिन दुनिया के बाकी जगहों पर अभी भी खेला जा रहा है।

अच्छा गेम होने की वजह से इस गेम के काफी सारे प्रतियोगी (competitor) भी रहे। जिन्होंने गेम की चीटींग कर के PUBG की तरह ही दिखने वाला दूसरा गेम शुरु किया और गेम में अच्छी रैंकिंग भी पा लिया। इसे खेलने वालों को चीटर ही कहते हैं, जो जुगाड़ भिड़ाकर एक से बढ़कर एक आइटम अन्लॉक कर लेते हैं।

PUBG मोबाइल ने उसी तरह चीटरों पर लगाम कसी है। एक साथ 12 लाख से ज्यादा अकाउंट्स को पर्मानेंट तरीके से ब्लॉक कर दिया है। पबजी मोबाइल के ब्लू टिक वाले ट्विटर हैन्डल से बताया गया कि उसने 8 जनवरी से लेकर 14 जनवरी के बीच 12,17,342 अकाउंट्स को चीटिंग करने की वजह से सस्पेन्ड कर दिया है।

जो चीटर्स एप बैंन हुए है उनमें 38% Bronze प्लेयर, 11% Silver प्लेयर, 11% Platinum प्लेयर, 9% Gold प्लेयर,12% Diamond प्लेयर, और 10 % Crown प्लेयर और भी बहुत से खिलाड़ी शामिल हैं।

कैसी चीटिंग कर रहे थे यह?

अपने-आप निशाना लगाने वाले हैक की वजह से सस्पेन्ड किया गया। जिसको की Auto-aim ऑपसन कहते है। इसकी वजह से कई अच्छे खिलाड़ी भी इस Auto-aim ऑपसन के सामने टिक नही पाते है। कुछ खेलाड़ी तो बस खेल में एरिया डैमेज बढ़ने के कारन सस्पेन्ड हो जाते है।

यह भी पढे:भारत में PUBG शुरू होने के आसार, इस चीनी कंपनी को होना होगा अलग

Related Articles

Back to top button