दबाव की राजनीति से सादुल शहर में फूटा जन आक्रोश

राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में सादुलशहर नगरपालिका अध्यक्ष के चुनाव से एक दिन पहले दबाव की राजनीति के चलते आज जन आक्रोश फूट पड़ा।

श्रीगंगानगर: राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में सादुलशहर नगरपालिका अध्यक्ष के चुनाव से एक दिन पहले दबाव की राजनीति के चलते आज जन आक्रोश फूट पड़ा। आक्रोशित लोगों ने वन विभाग के दो बार आए दल को एक लकड़ी के आरे को सीज नहीं करने दिया। यह दल दूसरी बार पुलिस बल को भी साथ लेकर आया लेकिन लोगों के गुस्से के मद्देनजर आरा सीज नहीं किया जा सका।

यह आरा नगरपालिका चुनाव में नवनिर्वाचित एक निर्दलीय पार्षद के ससुर का है। यह निर्दलीय पार्षद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खेमे में हैं। लोगों ने इसे दबाव की राजनीति बताते हुए क्षेत्र से कांग्रेस विधायक जगदीश जांगिड़ के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन भी किया।

नगरपालिका अध्यक्ष के चुनाव

लोगों ने आरे के मुख्य गेट पर ताला लगा दिया और धरना देकर बैठ गए। लोगों ने आरोप लगाया कि रविवार को होने वाले नगरपालिका अध्यक्ष के चुनाव में निर्दलीय पार्षदों को अपने खेमे में लाने के लिए कांग्रेस विधायक जगदीश जांगिड़ हर प्रकार के हथकंडे अपना रहे हैं।

इससे पहले भाजपा के ही खेमे में एक और निर्दलीय पार्षद अमरनाथ अग्रवाल उर्फ मक्खन ठेकेदार और उनकी पुत्रवधू मीनाक्षी पर दबाव बनाने के लिए एक-दो दिन पहले उनकी कई बसों के चालान पुलिस एवं परिवहन विभाग से करवाये जाने के आरोप भी लगाये गए। पालिका चुनाव के मतदान से पहले भी भाजपा का समर्थन कर रहे एक शख्स के नशा मुक्ति केंद्र पर चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग के दल ने छापा मारा। इसमें भर्ती युवकों को दूसरे नशा मुक्ति केंद्रों में शिफ्ट करवाकर केंद्र को बंद कर दिया गया।

कांग्रेस विधायक पर आरोप

पालिका चुनाव को लेकर कांग्रेस विधायक पर आरोप लग रहे हैं कि वह येन-केन प्रकारेण कांग्रेस का बोर्ड
बनवाने के लिए इस प्रकार के हथकंडे अपनाकर दबाव की राजनीति कर रहे हैं। उधर सादुलशहर नगर पालिका चुनाव के लिए नियुक्त भाजपा के प्रभारी और जिला प्रतिनिधि रतन गणेशगढ़िया में निर्दलीय पार्षदों को अपने खेमे में करने के लिए

अपनाए जा रहे हथकंडों को लेकर कांग्रेस विधायक की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि चुनाव में भाजपा को सादुलशहर में बहुमत मिला है। जनादेश का कांग्रेस विधायक को सम्मान करना चाहिए। भाजपा को चार-पांच पार्षदों का समर्थन प्राप्त है और भाजपा की ही अध्यक्ष बनेगी। उल्लेखनीय है कि सादुलशहर के 25 वार्डों में भाजपा को 12 और कांग्रेस को सात वार्डों में सफलता मिली है जबकि छह वार्डों में निर्दलीय पार्षद निर्वाचित हुए हैं।

यह भी पढ़े: सिरसा में अवैध हथियारों का बड़ा जखीरा बरामद, दो गिरफ्तार

Related Articles

Back to top button