नहीं होगी अब धांधली आयुष्मान गोल्डन कार्ड न बनाने वाले जनसुविधा केंद्र होंगे बंद

लखनऊ: आयुष्मान योजना के लाभार्थियों का गोल्डन कार्ड नहीं बनाने पर जनसुविधा केंद्र बंद कराए जाएंगे। कुछ केंद्रों की शिकायत मिलने के बाद जनसुविधा केंद्रों के प्रदेश प्रभारी प्रशांत कुमार शुक्रवार दोपहर फीरोजाबाद के सीएमओ कार्यालय पहुंचे और मामले की जानकारी ली।

जनपद में इस योजना का लाभ करीब 1.30 परिवारों को मिलना है। इस तरह इन परिवारों के 6.50 लाख लोगों का गोल्डन कार्ड बनाया जाना है। इसके सापेक्ष अब तक 33 हजार लोगों का ही कार्ड बनाया जा सका है। सीएमओ डॉ. एसके दीक्षित ने बताया कि इस काम में तेजी लाने के लिए सरकार ने जनसुविधा केंद्रों से समझौता किया है। इसके बाद भी जनपद में अनेक केंद्र गोल्डन कार्ड बनाने में हीलाहवाली कर रहे हैं।

इस बारे में कुछ दिन पहले शिकायत मिलने के बाद सीएमओ डॉ. दीक्षित ने यह बात डीएम सेल्वा कुमारी जे. को बताई। इसके बाद प्रशासन द्वारा लिखा-पढ़ी करने के बाद प्रशांत कुमार यहां आए। उन्होंने सभी जनसुविधा केंद्रों के नाम, पता और संचालकों के मोबाइल नंबर सीएमओ कार्यालय को उपलब्ध कराते हुए कहा कि गोल्डन कार्ड नहीं बनाने पर केंद्रों को बंद करा दिया जाएगा।

एक लाभार्थी से ले सकेंगे 30 रुपये

जनसुविधा केंद्र एक गोल्डन कार्ड बनाने के एवज में लाभार्थी से 30 रुपये ले सकेंगे। बता दें कि आयुष्मान योजना में चयनित अस्पतालों में ये कार्ड निश्शुल्क बनाए जाते हैं। इसलिए अस्पतालों में बनवाने वालों की भीड़ रहती है।

Related Articles