राज्य महिला आयोग द्वारा विभिन्न जनपदों में इस दिन होगी जनसुनवाई

लखनऊः यूपी राज्य महिला आयोग द्वारा प्रदेश के पात्र बच्चों को उ.प्र. मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का अधिकतम लाभ दिलाये जाएंगे। साथ ही महिला उत्पीड़न की रोकथाम व महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाये जाने के उद्देश्य से तथा आवेदक की सुगमता की दृष्टि से प्रदेश के विभिन्न जनपदों के राजकीय गेस्ट हाउसों में माह अगस्त के प्रथम बुधवार को जागरूकता शिविर का आयोजन किया जाएगा।

महिला जनसुनवाई का कार्यक्रम सम्बन्धित जनपद के जिलाधिकारी की ओर से नामित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अथवा उनकी ओर से नामित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी, महिला थानाध्यक्ष एवं सम्बन्धित थाने के क्षेत्राधिकारी की उपस्थिति में कराये जाने का निर्णय लिया गया है।

यूपी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना शिविर

कार्यक्रम आयोग के पदाधिकारियों की अध्यक्षता में किया जायेगा। यूपी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना शिविर का आयोजन कराया जायेगा। शिविर में उपस्थित व्यक्तियों को योजना की विस्तृत जानकारी दिलाये जाने, योजना से सम्बन्धित साहित्य उपलब्ध कराये जाने के साथ ही पात्रो का योजना में पंजीकरण भी कराना यथासम्भव सुनिश्चित किया जायेगा। उक्त दिवस के द्वितीय सत्र की अवधि में जनपद के आयोग में प्रचलित प्रकरणों एवं जनपद में महिला उत्पीड़न की नवीन घटनाओं का संज्ञान लेकर जनसुनवाई कार्यक्रम का आयोजन कराया जायेगा।

इन जनपदों की होगी महिला जन सुनवाई

महिला आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम द्वारा जनपद गाजियाबाद का, आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह द्वारा बुलन्दशहर, उपाध्यक्ष अंजु चौधरी द्वारा चित्रकूट में महिला जन सुनवाई की जाएगी। आयोग के सदस्य अनीता सिंह द्वारा मिर्जापुर, सुमन चतुर्वेदी द्वारा मैनपुरी, इन्द्रवास सिंह द्वारा अयोध्या, सुनीता बंसल द्वारा बलरामपुर, निर्मला द्विवेदी द्वारा गोरखपुर, राखी त्यागी द्वारा शामली, निर्मला दीक्षित द्वारा आगरा।

मीना कुमारी द्वारा अलीगढ़, डॉ. कंचन जायसवाल द्वारा झांसी, पूनम कपूर द्वारा हमीरपुर, उषारानी द्वारा भदोही, अनिता सचान द्वारा प्रयागराज, संगीता तिवारी द्वारा आजमगढ़, शशि मौर्या द्वारा गाजीपुर, सुमन सिंह द्वारा प्रतापगढ़, अवनी सिंह द्वारा रामपुर, अंजू प्रजापति द्वारा रायबरेली, अर्चना द्वारा महाराजगंज तथा रंजना शुक्ला द्वारा औरैया जनपद की महिला जन सुनवाई की जाएगी।

Related Articles