पंजाब के डिप्टी सीएम Sukhjinder Randhawa ने अपने दामाद को नवाज़ा सरकारी ओहदा

अमृतसर : पंजाब के गृहमंत्री Sukhjinder Randhawa ने अपने दामाद तरुणवीर सिंह लहल को राज्य का एडिशनल एडवोकेट जनरल पद पर नियुक्त किया है।

Sukhjinder Randhawa के इस कदम पर विपक्ष हुआ हमलावर

विधायक फतेहजंग बाजवा के बेटे को डीएसपी लगाने का विरोध करने वाले रंधावा अब अपने दामाद को एडिशनल एडवोकेट जनरल बनाने के मामले में आलोचना का शिकार हो रहे हैं। फैसले का बचाव करते हुए राज्य के गृह मंत्री रंधावा ने कहा कि लेहल की नियुक्ति कानूनी थी। उन्होंने कहा कि यह नियुक्ति महाधिवक्ता पंजाब की सिफारिश पर की गई है।

उन्होंने कहा कि उनका 12 साल से अधिक का अभ्यास रिकॉर्ड है और 500 से अधिक मामले हाई कोर्ट में लंबित हैं। यह छह महीने से कम समय के लिए संविदा नियुक्ति है, स्थायी नौकरी नहीं है। हालांकि विपक्षी दलों ने कांग्रेस सरकार पर भाई-भतीजावाद के आरोप लगाए हैं। आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता राघव चड्ढा ने नौकरियों पर पार्टी के चुनावी वादे पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यह केवल कांग्रेस नेताओं के रिश्तेदारों पर लागू होता है।

चड्‌ढा ने कहा कि कांग्रेस अपने हर घर नौकरी के वादे को पूरा कर रही है। हालांकि इसमें थोड़ा बदलाव हुआ है। यह नौकरियां सिर्फ कांग्रेस के मंत्रियों और विधायकों के परिवार के सदस्यों के लिए हैं। इसके ताजा लाभार्थी सुखजिंदर रंधावा के दामाद हैं। सीएम चन्नी भी कैप्टन अमरिंदर सिंह की विरासत को ही आगे बढ़ा रहे हैं।

यह भी पढ़े : उपहार अग्निकांड: सबूतों से छेड़छाड़ के आरोप में 7 साल की जेल, आरोपियों पर 2.5 करोड़ रुपये का जुर्माना

Related Articles