Punjab Election 2022: अकाली दल और बसपा के बीच ऐतिहासिक गठबंधन, मायावती ने दी बधाई

पंजाब में आगामी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए सुखबीर सिंह बादल की शिरोमणी अकाली दल और मायावती की बहुजन समाज पार्टी ने गठबंधन कर लिया है

चंडीगढ़: पंजाब (Punjab) में आगामी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) की शिरोमणी अकाली दल और मायावती (Mayawati) की बहुजन समाज पार्टी ने (SAD-BSP) गठबंधन कर लिया है।

Image

बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर कहा कि पंजाब में आज शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी द्वारा घोषित गठबंधन यह एक नया राजनीतिक व सामाजिक पहल है, जो निश्चय ही यहां राज्य में जनता के बहु-प्रतीक्षित विकास, प्रगति और खुशहाली के नए युग की शुरूआत करेगा। इस ऐतिहासिक कदम के लिए लोगों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं।

ऐतिहासिक गठबंधन

मायावती ने कहा कि वैसे तो पंजाब में समाज का हर तबका कांग्रेस पार्टी के शासन में यहां व्याप्त गरीबी, भ्रष्टाचार और बेरोजगारी आदि से जूझ रहा है, लेकिन इसकी सबसे ज्यादा मार दलितों, किसानों, युवाओं व महिलाओं आदि पर पड़ रही है, जिससे मुक्ति पाने के लिए अपने इस गठबंधन को कामयाब बनाना बहुत जरूरी है।

इसके साथ ही मायावती ने पंजाब की समस्त जनता से पुरजोर अपील है कि वे अकाली दल और BSP के बीच आज हुये इस ऐतिहासिक गठबंधन को अपना पूर्ण समर्थन देते हुए यहां सन् 2022 के प्रारम्भ में ही होने वाले विधानसभा आमचुनाव में इस गठबंधन की सरकार बनवाने में पूरे जी-जान से अभी से ही जुट जाएं।

2022 और उसके बाद के चुनाव

शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबी​र सिंह बादल ने बयान दिया कि शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव 2022 और उसके बाद के चुनाव साथ लड़ेंगे। उन्होंने बोला आज युग निर्माण का दिन है। अकाली दल 100 साल पुरानी पार्टी, जो हमेशा किसानों, व्यापारियों और गरीब तबके के हितों के लिए काम करती है।

SAD-BSP गठबंधन

सुखबी​र सिंह बादल ने कहा SAD-BSP गठबंधन सभी पंजाबियों के लिए खड़ा है और राज्य पर शासन कर रहे भ्रष्ट कांग्रेस शासन को बेदखल करेगा। यह आप की अवसरवादी राजनीति को भी समाप्त कर देगा। गठबंधन भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार की संघीय विरोधी नीतियों के खिलाफ एक सुरक्षा कवच के रूप में भी काम करेगा।

शिरोमणि अकाली दल और बसपा दोनों ही श्री गुरु नानक देव जी और गुरु रवि दास जी द्वारा समर्थित ‘सर्ब सांझीवालता’ में विश्वास करते हैं। अकाली दल हमेशा गरीबों के साथ खड़ा रहा है और पंजाब की प्रगति में सभी वर्गों को साथ लेकर गया है। हमारा गठबंधन इस साझा दर्शन को और भी मजबूत करेगा।

सुखबी​र सिंह बादल ने बयान में कहा कि अकाली दल समावेशी राजनीति के लिए प्रतिबद्ध है। बाबासाहेब अंबेडकर जी के 130वें जन्मदिन पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए मैंने कहा था कि अकाली दल की सरकार बनने के बाद उपमुख्यमंत्री दलित समुदाय से होंगे। दलित सशक्तिकरण और सामाजिक न्याय के प्रति हमारी प्रतिबद्धता जारी रहेगी।

यह भी पढ़ेफिल्म The Conversion का पोस्टर लॉन्च, इस एक्ट्रेस की हुई एंट्री, सपना चौधरी आएंगी नजर

Related Articles