पंजाब सरकार और कांग्रेस पार्टी ने किसानों को हिंसा के लिए उकसाया- केंद्र सरकार

नई दिल्ली : 26 जनवरी के दिन दिल्ली में ट्रेक्टर परेड (Tractor parade) के दौरान हुई हिंसा और उपद्रव के लिए केंद्र सरकार (central government) ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (Indian National Congress) को जिम्मेदार ठहराया है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेडकर (Prakash Javadekar) ने बीजेपी (BJP) मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गणतंत्र दिवस (The Republic Day) के दिन हुई हिंसा के लिए पंजाब सरकार (Government of Punjab) और कांग्रेस (Congress) पार्टी को गुनहगार बताया है। इसके साथ ही उन्होंने संयम और धैर्य बरतने के लिए दिल्ली पुलिस की तारीफ़ भी किये है।

केंद्रीय मंत्री जावेडकर ने कहा कि राहुल गांधी और कांग्रेस (Congress) नेता लगातार किसानों को उकसा रहे है। उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस के दिन हुई हिंसा को कांग्रेस अहिंसक बता रही है। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ऐसा ही काम CAA आंदोलन में किया था, रामलीला मैदान में लोगों को उकसा कर सड़क पर आने का आह्वाहन किया था, इसके दूसरे ही दिन CAA के विरोध में आंदोलन शुरू हो गया था।

पंजाब सरकार ने किसानों को उकसाया

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पंजाब में कांग्रेस सरकार ने जानबूझकर किसानों (Farmers) को उकसाया, कल के यूथ कांग्रेस (Youth congress) और कांग्रेस के ट्वीट इसके उदाहरण है, जिसमें एक ट्वीट में लिखा गया है कि अहिंसक परेड को हिंसक दिखाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस पर लाठी डंडे और तलवार से हमला किया गया, 300 से ज्यादा पुलिस कर्मी घायल हुए है क्या लाल किले पर जो हुआ वह अहिंसक था।

Congress देश में हिंसा और दंगा भड़काना चाहती

उन्होंने कहा कि जब पुरे देश से हिंसा की निंदा की आवाज आने लगी तब राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने हिंसा की आलोचना की। प्रकाश जावेडकर (Prakash Javadekar) ने कहा कि कांग्रेस हताश और निराश हो चुकी है, यह किसी भी तरह देश में हिंसा (Violence) और दंगा (riot) भड़काना चाहते है। यही हालत कम्युनिस्टों की भी है।

कृषि कानूनों को लेकर उन्होंने कहा कि सरकार ने दसियों बार किसानों से बात की और आग्रह किया कि इस पर बिंदुवार चर्चा की जाएगी, लेकिन दूसरी तरफ से लगातार इसे वापस लेने की मांग की जाती रही।

इसे भी पढ़े: चीन- पाक से एक साथ मुकाबले के लिए राफेल की तीसरी खेफ पहुंची भारत

Related Articles