विधानसभा चुनाव से पहले पंजाब सरकार ने किया water bill माफ

अमृतसर : पंजाब सरकार ने सोमवार को शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में उपभोक्ताओं के water bill का बकाया माफ करने का ऐलान किया। इस कड़ी में जानकारों के मुताबिक इस फैसले से राज्य पर करीब 1,800 करोड़ रुपये का अतिरिक्त भार पड़ेगा।

water bill पर हुए इस एलान से पंजाब पर पड़ेगा 1,800 करोड़ रुपये का अतिरिक्त भार

कैबिनेट ने इसके अलावा पानी का बिल पचास रूपये प्रतिमाह तय करने का भी फैसला किया है। चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब के मुख्यमंत्री का पद संभालने के बाद अपने पहले प्रेस कॉन्फेंस में ही गरीबों के बिजली और पानी के बिल माफ करने का ऐलान किया था। साथ ही कहा था कि जिन किसानों के बिजली कनेक्शन काटे गए हैं, उन्हें बहाल करके बिल माफ किए जाएंगे।

कैबिनेट की बैठक की अध्यक्षता करने के बाद मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि हम सभी शहरों में करीब 700 करोड़ रुपये के पानी के बकाया बिल को माफ कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि गांवों में, पंचायतों के पानी के लंबित बिल भी माफ किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने पत्रकारों को बताया कि इसपर तकरीबन 1,168 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। चन्नी ने कहा कि मंत्रिमंडल ने फैसला किया है कि ट्यूबवेलों में जलापूर्ति करने पर बिजली के जो बिल आएंगे उनका भुगतान राज्य सरकार करेगी।

यह भी पढ़ें : आरबीआइ ने एसबीआइ पर लगाया 1 crore का जुर्माना

Related Articles