नौ महीने के कार्यकाल में पूर्व पीएम प्रचंड ने किया था नेपाल का विकास

0

सग़ीर ए खकसार
वरिष्ठ पत्रकार

सिद्धार्थ नगर। नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री और नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) केंद्र के अध्यक्ष पुष्प कमल दहाल उर्फ प्रचंड ने कहा है कि मैंने अपने प्रधानमंत्रित्व काल मे भारत के साथ मज़बूत सम्बन्ध बनाये और चीन के साथ भी संतुलित संबंध रखा।

माओवादियों पर दिया बड़ा और महत्‍वपूर्ण बयान

नेपाल के पूर्व प्रधनमंत्री ने आगे कहा कि माओवादियों पर विपक्ष का आरोप था कि ये महान क्रांति के योद्धा और नायक तो हो सकते हैं लेकिन सरकार सुचारू रूप से चलाना इनके बस की बात नहीं है। हम ने सरकार भी चलाया और विकास भी किया। नेपाल के आर्थिक विकास को एक फीसद से उठाकर सात फीसद तक लाने में हम कामयाब रहे।

विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे प्रचंड

पुष्‍प कमल दहल भारत नेपाल सीमा पर स्थित बढ़नी से सटे पड़ोसी कस्बा कृष्णा नगर में एक विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने अपने प्रधानमंत्रित्व काल में किये गए विकास कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि भारत यात्रा के दौरान प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी से मधेश के हुलाकी मार्ग के निर्माण की मांग की थी। भारत ने दो चरणों में बनाने की बात कही थी। हुलाकी मार्ग के निर्माण का कार्य शुरू हो चुका है। इस सड़क के निर्माण से मधेश में आर्थिक क्रांति आएगी। श्री दहाल ने कहा कि इसके अलावा बढ़नी से काठमाण्डू ट्रेन चलाने की भी मांग भारत से की थी। जिसपर भारत ने सैद्धान्तिक सहमति जताई थी।

नौ महीने रहे नेपाल के प्रधानमंत्री

प्रचंड ने कहा कि मेरा कार्यकाल सिर्फ नौ महीने का था। इस छोटे से कार्यकाल में हाइड्रो प्रोजेक्ट को भारत ने स्वीकृति दी थी। जिससे देश मे सिंचाई और विधुत उत्पादन बढ़ेगा। कपिलवस्तु खासकर मधेश में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध होगी। श्री दहाल ने कहा कि स्थानीय चुनाव सम्पन्न हो चुके हैं। हम नेपाल में तीसरी सबसे बड़ी ताकत के रूप में अब भी हैं।

नए युग की होने वाली है शुरुआत

दहल ने कहा कि अब नेपाल में एक नए राजनैतिक युग की शुरुआत होने वाली है। प्रदेश विधान सभा और केंद्र के चुनाव होने वाले हैं। नए राजनैतिक समीकरण उभरेंगे। राजनैतिक स्थिरता मुल्क में कायम होगी। देश मे विकास के नए नए अवसर पैदा होंगे। माओवादी सभी दलित, मधेसी, आदिवासी, जनजाति, हिमाली, पहाड़ी, शोषित समाज को साथ लेकर चलने वाली पार्टी है। किसी तरह का कोई भ्रम न पालें। संदेह न करें। कुछ खट्टे मीठे अनुभव रहे हैं लेकिन आगे हमे सकारात्मक सोंच के साथ आगे बढ़ना है। हमारी ताकत जनता है आप हमें जब मज़बूत बनायेगें तभी हम देश के उत्थान के लिए कुछ कर पाएंगे।

कृष्‍णनगर को स्‍चव्‍छ और सुंदर बनाने की अपील की

श्री दहाल ने कृष्णनगर भंसार को उच्चीकृत करने की भी बात कही। कृष्ण नगर को स्वच्छ और सुंदर शहर बनाने के साथ बाद में इसे स्मार्ट सिटी बनाने का भी वादा किया।श्री दहाल ने कहा कि मैं बड़े बड़े दावे नहीं करता। मैं जितना कर सकता हूँ। उतना ही बोलता हूं। श्री दहाल ने अपना अधिकांश भाषण नेपाली में दिया लेकिन आखिर में वो हिंदी में बोलने लगे। भाषण का समापन हिंदी में ही किया। अच्छे वक्ता के रूप में जाने जाने वाले प्रचंड आज मधेश में अपने जनाधार को बढ़ाने में काफी हद तक कामयाब रहे। माओवादी केंद्र के मुस्लिम विंग मुस्लिम मुक्ति मोर्चा के जावेद खान का भी कद प्रचंड के कृष्णनगर आने में बढ़ा। जावेद खान की भयो शबनम खातून सहित कपिलवस्तु के कई सभासद और सदस्य हालिया स्थानीय चुनाव में माओवादी केंद्र से चुनाव जीतने में कामयाब रहे हैं।इस जीत से माओवादी केंद्र उत्साहित और मधेश में अपनी ज़मीन नए सिरे से तैयार कर रही है।

इस मौके पर गणमान्‍य लोग उपस्थित रहे

नेपाल उर्दू न्यूज़ के ज़ाहिद आज़ाद ने  पूर्व प्रधामंत्री को स्मृति चिन्ह भेंटकर उनका स्वागत किया। अपने संबोधन में आज़ाद ने कहा कि नेपाल में नया सवेरा हो रहा है। सबके होंठों पर मुस्कान होगी और मुल्क तरक्की की राह पर गामज़न होगा। पूर्व मंत्री मातृका यादव, केंद्रीय सदस्य बलदेव, शिव प्रसाद जायसवाल ने भी जनसभा को संबोधित किया। संचालन चक्रपाणि खनाल ने किया। जनसभा में भारी भीड़ उमड़ी। बड़ी तादाद में लोगों ने माओवादी की सदस्यता भी ली। इस मौके पर प्रमुख रूप से तुफैल अहमद, केके गुप्ता, करम हुसैन, सुनील मोदनवाल, नेपाल उर्दू न्यूज़ के अध्यक्ष ज़ाहिद आज़ाद आदि उपस्थित रहे।

loading...
शेयर करें