क्वाड की बैठक में हिंद-प्रशांत क्षेत्र पर चर्चा, विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ट्वीट कर दी जानकारी

नई दिल्लीः विश्व में चीन के बढ़ते प्रभुत्व को टक्कर देने के लिए जापान की राजधानी टोक्यो में क्वाड समूह की बैठक का आगाज किया गया है। मंगलवार को आयोजित इस बैठक की जानकारी भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ट्वीट कर साझा की हैं।

दरअसल क्वाड समूह की इस बैठक में सदस्य देशों भारत, अमेरिका, ऑस्टेलिया और जापान के विदेश मंत्री शामिल हुए थे। इस बैठक के दौरान कोरोना सहित हिंद-प्रशांत क्षेत्र के कई मुद्दों परविस्तार से चर्चा की गई है।

क्वाड समूह की बैठक को संबोधित करते हुए भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि “भारत क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता के लिए सम्मान और विवादों के शांतिपूर्ण हल के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताता है। यह संतोष की बात है कि हिंद-प्रशांत अवधारणा को तेजी से व्यापक स्वीकृति मिली है। पिछले साल ईस्ट एशिया समिट में हमने हिंद-प्रशांत महासागर की पहल के बारे में चर्चा की थी, उस संबंध में अब काफी वादों के साथ विकास हुआ है।”

इस बैठक के दौरान विदेश मंत्री ने कहा, “हम नियम-आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं। साथ ही कानून के शासन, पारदर्शिता, अंतरराष्ट्रीय समुद्रों में नेविगेशन की स्वतंत्रता, क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता के लिए सम्मान और विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के लिए भी अपनी प्रतिबद्धता जताते हैं।”

भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर ने ट्वीट कर बैठक के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि, “बैठक के दौरान एक-दूसरे के साथ संबंधों के द्विपक्षीय और वैश्विक आयाम पर चर्चा हुई। वहीं कोरोना से लड़ने के लिए देशों के बीच समन्वय बनाने पर भी जोर दिया गया है। इसके अलावा भारत कोरोना समेत दूसरी वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए समाधान खोजने को भी तत्पर है।”

गौरतलब है कि इस बैठक के पहले भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर और अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी मुलाकात की। वहीं कोरोना महामारी और भारत-चीन सीमा विवाद के बाद यह क्वाड समूह की पहली बैठक हैं।

Related Articles