IPL
IPL

वैक्सीन पर उठने लगे सवाल, टीकाकरण के बाद 13 की गई जान

यूरोप के नॉर्वे में नए साल से चार दिन पहले ही फाइजर वैक्सीन लगाने की शुरूआत की गई थी। अब फाइजर वैक्सीन पर कई सवाल उठना शुरू हो चूका है।

नॉर्वे: दुनिया भर के तमाम देश कोरोना वायरस (COVID-19) के खिलाफ जंग लड़ रहे है। कई देशो में अब कोरोना वैक्सीनेशन (Corona vaccination) का सिलसिला शुरू भी हो चुका है। यूरोप के नॉर्वे में नए साल से चार दिन पहले ही फाइजर वैक्सीन लगाने की शुरूआत की गई थी। अब फाइजर वैक्सीन (Pfizer Vaccine) पर कई सवाल उठना शुरू हो चुका है। फाइजर वैक्सीन (Pfizer Vaccine) का टीका लगने से 13 लोगों की मौत हो चुकी है।

जानकारी के मुताबिक, नॉर्वे में सबसे पहले फाइजर वैक्सीन की डोज सविन एंडरसन (67) को दी गई थी। इसके बाद 33 हजार लोगो को वैक्सीन लगाई गई। वैक्सीनेशन लगने की शुरूआत में ही लोगो को बता दिया गया था कि इससे कुछ लोगों को साइड इफेक्ट भी हो सकता हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, फाइजर वैक्सीन लगाने के बाद से 29 लोगों में साइड इफेक्ट देखने को मिले है।

इनमे से 23 लोगों की मौत को टीकाकरण से जोड़कर देखा गया है। वहीं इन मृतकों में 13 मरीजों की ही जांच की गई है। एजेंसी के मेडिकल डायरेक्‍टर स्‍टेइनार मैडसेन के मुताबिक 13 लोगों की हुई मौतों में नौ लोगों में सीरियस साइड इफेक्ट के मामले सामने आए हैं।

ये भी पढ़ें : सोशल मीडिया पर भी ‘कालीन भैया’ का जलवा कायम, इंस्टाग्राम पर 3M फॉलोअर्स

वैक्सीनेशन के बाद 13 मरीजों की हुई मृत्यु

मैडसेन ने जानकारी देते हुए बताया है कि 13 मरीजों की हुई मृत्यु की जांच रिपोर्ट में पता चला है कि इनमे ज्यादातर बुजुर्ग वर्ग के लोग शामिल है जिनकी उम्र 80 या 90 साल से अधिक है। इसके अलावा शारीरिक रूप से कमजोर व्यक्ति की भी मौत हुई है। उनका कहना है कि इनमें से कुछ को वैक्सीनेशन के बाद फीवर और घबराहट जैसे समस्याओं का सामना करना पड़ा होगा। जिसके बाद वे गंभीर रूप से बीमार हो गए और फिर उनकी मौत हो गई।

ये भी पढ़ें : किसानों के सम्मान में सड़क पर उतरी कांग्रेस, अल्का लांबा का बहा खून

 

Related Articles

Back to top button