राफेल बेड़े में महिला फाइटर पायलट शामिल, अब चीन को औंधे मुँह गिराएंगी जांबाज़ बेटियां

0

राफेल बेड़े में महिला फाइटर पायलट शामिल, अब चीन को औंधे मुँह गिराएंगी जांबाज़ बेटियां

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना नारी शक्ति के हांथों राफेल देकर इतिहास बदलने जा रहा है। महिला फाइटर पायलट को राफेल युद्धक विमानों के स्क्वाड्रन ‘गोल्डन ऐरो’ में शामिल कर लिया गया है। ख़बरों के हवाले से मिल रही जानकारी के अनुसार महिला पायलट आधुनिक युद्धक राफेल की ट्रैंनिंग भी ले रही हैं।

इस स्क्वाड्रन में एक नहीं दो महिला फाइटर अधिकारियों को शामिल किया गया है। सब लेफ्टिनेंट (एसएलटी) कुमुदिनी त्यागी और एसएलटी रीति सिंह को गोल्डन ऐरो स्क्वाड्रन में शामिल किया गया है। ये दोनों Mig-21 फाइटर प्लेन पहले से उड़ाती रही हैं। इंटरनल रिक्रूटमेंट के तहत दोनों का चयन राफेल के लिए हुआ है। मौजूदा समय में इंडियन एयरफोर्स में 10 महिला फाइटर पायलट और 18 महिला नेविगेटर हैं। एयरफोर्स में मुजूदा समय में कुल 1875 महिला अधिकारी हैं।

राफेल बेड़े में महिला फाइटर पायलट शामिल, अब चीन को औंधे मुँह गिराएंगी जांबाज़ बेटियां

पिछले साल 10 सितंबर को वायुसेना की ‘गोल्डन ऐरो’ स्क्वाड्रन का पुनर्गठन किया गया था। रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने संसद में कहा था कि वायुसेना में रणनीतिक आवश्यकताओं को देखते हुए महिला लड़ाकू पायलटों को शामिल और तैनात किया गया है।

गौरतलब है कि कारगिल युद्ध के दौरान पहली बार इंडियन एयरफाॅर्स में महिला पायलट्स ऑपरेशंस का हिस्सा बनी थीं। वर्ष 2016 में सरकार ने महिला पायलट्स को फाइटर फ्लाइंग की अनुमति भी दी थी। तबसे अबतक 10 महिला फाइटर पायलट्स शामिल की गयीं हैं। इंडियन एयरफोर्स में शामिल इन 10 नारी शक्तियों ने सुखोई-30 एमकेआई, मिग-21, मिग-29 जैसे शानदार फाइटर प्लेन्स को उड़ाया है।

ये भी पढ़ें : बड़ी खबर: आजमगढ़ में हुआ विमान क्रैश, पायलट ने लगाई छलांग, हुई मौत

शेयर करें