चीन- पाक से एक साथ मुकाबले के लिए राफेल की तीसरी खेप पहुंची भारत

नई दिल्ली : भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) की ताकत में चार-चांद लगाने फ़्रांस से राफेल लड़ाकू विमानों (Rafale Fighter Aircraft) की तीसरी खेप भारत पहुंच गई है। बुधवार को राफेल की तीसरी खेप ने गुजरात के जामनगर इंडियन एयर फ़ोर्स (Indian Air Force) के बेस पर लैंड किया। इसके साथ ही भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल राफेल लड़ाकू विमानों की संख्या 11 हो गई है।

UAE की वायुसेना ने आसमान में भरा फ्यूल

फ़्रांस (France) से रवाना होने के बाद यह तीनों राफेल सात हजार किलोमीटर से अधिक की यात्रा करते हुए बिना रुके भारत पहुंचे है। हालांकि रास्ते में संयुक्त अरब अमीरात (UAE) की वायुसेना द्वारा इन विमानों में हवा में ईंधन भरा गया है। भारतीय वायुसेना ने राफेल में ईंधन भरने के लिए UAE की वायुसेना को धन्यवाद दिया है। UAE के मल्टी रोल टैंकर ट्रांसपोर्ट विमान ने इस कार्य को अंजाम दिया है।

बता दें कि इससे पहले  29 जुलाई को पांच राफेल विमानों (Rafale Fighter Aircraft) ) की पहली खेप भारत पहुंची थी। इसके बाद 3 और राफेल विमान 3 नवबंर 2020 में भारतीय वायुसेना में शामिल हुए थे। अब तीन और राफेल लड़ाकू विमान (Rafale Fighter Aircraft) के वायुसेना में शामिल होने से इंडियन एयरफोर्स की ताकत में और भी इजाफा हो गया है। भारत ने अपनी वायुसेना की ताकत में इजाफा करने के लिए फ़्रांस से 59 हजार करोड़ रूपये में 36 राफेल लड़ाकू विमानों का करार किया है। जिसमें से 21 विमान भारत को अगले साल अप्रैल तक मिल जायेंगे।

इसे भी पढ़े: Delhi violence: भड़काऊ पोस्ट करने वाले 300 से ज्यादा अकाउंट को Twitter ने किया ससपेंड

चीन और पाकिस्तान से एक साथ मुकाबला करने के लिए भारत अपनी सेना को अत्याधुनिक बनाने में जुटा हुआ है, भारत इसके लिए विदेशी हथियारों के साथ साथ स्वदेशी हथियारों को भी अपग्रेड कर रहा है। लद्दाख में भारत और चीन के बीच पिछले कई महीनों से जारी गतिरोध के बीच इन लड़ाकू विमानों का भारतीय बेड़े में शामिल होना काफी अहम माना जा रहा है।

Related Articles