‘कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी’ के आरोप पर भड़क उठे राहुल गांधी, दिया मुंहतोड़ जवाब

0

नई दिल्ली| कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को भाजपा की कथित टिप्पणी ‘कांग्रेस मुस्लिमों के लिए है’ पर जवाबी हमला किया। राहुल ने पार्टी के दर्शन को ट्वीट किया कि पार्टी ‘कतार में खड़े अंतिम व्यक्ति के साथ है, जिसका धर्म या जाति से कोई लेना-देना नहीं है। इस ट्वीट को व्यापक रूप से साझा व पसंद किया गया।

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कहा, मैं कतार में खड़े अंतिम व्यक्ति के साथ हूं, जो हाशिये पर है, दमित-पीड़ित है, अत्याचार का शिकार है। उसका धर्म, उसकी जाति और आस्था मेरे लिए मायने नहीं रखती। उन्होंने कहा कि जो दर्द में हैं, उन्हें तलाशता हूं, और उन्हें गले लगाता हूं। मैं सभी प्राणियों से प्यार करता हूं। मैं कांग्रेस हूं।

यह ट्वीट जाहिर तौर पर भाजपा के लगातार आलोचना के जवाब में आया है। भाजपा ने अपनी कथित टिप्पणी में कहा था कि कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी है।

भाजपा राहुल गांधी द्वारा पर मुस्लिम बुद्धिजीवियों के साथ एक बैठक में कथित तौर की गई टिप्पणी को लेकर राहुल गांधी की आलोचना कर रही थी। सत्तारूढ़ पार्टी ने कहा कि राहुल गांधी व उनकी पार्टी 2019 के चुनाव से पहले सांप्रदायिक राजनीति में लिप्त है।

इस कथित टिप्पणी को एक उर्दू दैनिक ने प्रकाशित किया था। हालांकि, बैठक में भाग लेने वाले कुछ बुद्धिजीवियों ने राहुल गांधी के इस तरह के विवादास्पद संदर्भ से इनकार किया है। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों ने कांग्रेस अध्यक्ष को इस मुद्दे पर निशाना बनाया।

मोदी ने आजमगढ़ ने शनिवार को एक जनसभा में कहा था, मैंने अखबार में पढ़ा कि नामदार (राहुल गांधी का संदर्भ देते हुए) ने कहा कि कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी है। मैं आश्चर्यचकित नहीं हूं..जब पिछले प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सत्ता में थे, उन्होंने खुले तौर पर कहा था कि प्राकृतिक संसाधनों के इस्तेमाल का पहला हक मुस्लिमों का होना चाहिए।

loading...
शेयर करें