मछुआरों संग समुद्र में Rahul Gandhi ने पकड़ी मछली, ‘दिल्ली में Fishermen के लिए मंत्रालय समर्पित’

कांग्रेस नेता और वायनाड के सांसद राहुल गांधी कोल्लम में मछुआरों के साथ समुद्र में मछली पकड़ने भी गए और उनके साथ बातचीत की

केरल: कांग्रेस नेता और वायनाड (Wayanad) के सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi)  कोल्लम के थांगस्सेरी समुद्र तट पर मछुआरों से बातचीत करने के लिए पहुंचे। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस नेता के.सी वेणुगोपाल, रमेश चेन्निथला और मुल्लापल्ली रामचंद्रन भी मौजूद रहे। इसके साछ ही राहुल गांधी कोल्लम में मछुआरों के साथ समुद्र में मछली पकड़ने भी गए और उनके साथ बातचीत भी की।

मछुआरों के लिए मंत्रालय

केरल में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोल्लम के थांगस्सेरी समुद्र तट पर मछुआरों के साथ बातचीत करने के लिए पहुंचे और कहा कि जैसे किसान जमीन पर खेती करते हैं वैसे आप समुद्र में करते हैं। किसान के लिए दिल्ली में मंत्रालय है लेकिन आपके लिए मंत्रालय नहीं है। आपके लिए दिल्ली में कोई नहीं बोलेगा इसलिए मैं पहले दिल्ली में मछुआरों के लिए मंत्रालय समर्पित करूंगा ताकि आपके मुद्दों का बचाव और संरक्षण हो सके।

मध्यप्रदेश के CM ने कसा तंज

मध्यप्रदेश के CM शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा कि राहुल गांधी ने पहले उत्तर भारत को कांग्रेस मुक्त कर दिया। अब दक्षिण की तरफ चले हैं। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक भारत एक है। ये वहीं कांग्रेस थी जिसने धर्म के नाम पर भारत, पाकिस्तान को बांटा। अब उत्तर और दक्षिण को बांटने चले हैं। जनता ऐसे प्रयासों को सफल नहीं होने देगी।

यह भी पढ़ेCorona Virus: अगर आप जा रहे हैं दिल्ली तो हो जाएं सावधान

स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी पर हमला बोला

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Union Minister Smriti Irani) ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा कि राहुल गांधी बार-बार झूठ बोलकर अपने पार्टी के लिए शिकस्त प्रतिस्थापित की है। राहुल गांधी आज भी मत्स्यपालन मंत्रालय के संदर्भ में एक और झूठ बोल चूके हैं। सच सामने आने के बाद भी उनका सच से सरोकार नहीं है।

राहुल गाँधी की चंचल और तामसिक राजनीति, जो न केवल अमेठी (Amethi) के लोगों और मतदाताओं का अपमान करती है, बल्कि उत्तर और दक्षिण भारत के बीच एक विभाजन पैदा करना चाहती है, जिसकी हर भारतीय नागरिक को निंदा करनी होगी।

यह  भी पढ़ेमहाराष्ट्र में फिर मंडराया Corona का खतरा, इलाकों में लगा कर्फ्यू, नई गाइडलाइन जारी

Related Articles

Back to top button