Rahul Gandhi ने बोला था- ‘सभी चोरों का एक ही उपनाम मोदी कैसे?’, कोर्ट में आज हुई पेशी

सूरत: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष Rahul Gandhi की आपराधिक मानहानि के मामले में आज मजिस्ट्रेट अदालत में पेशी हुई। वे अपना आखिरी बयां दर्ज कराने आज गुरूवार को गुजरात के सूरत जिले के मजिस्ट्रेट अदालत पहुंचे। बता दें कि गुजरात के एक MLA ने ‘मोदी उपनाम’ पर Rahul Gandhi की टिप्पणी को लेकर यह मुकद्दमा दर्ज कराया था। सूरत से भाजपा के विधायक पूर्णेश मोदी ने भारतीय दंड संँख्या की धारा 499 और 500 के तहत अप्रैल 2019 में गांधी के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई थी। एक हफ्ते पहले सूरत के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एएन दवे ने मामले में अंतिम बयान दर्ज कराने के लिए गांधी को 24 जून को अदालत में मौजूद रहने का निर्देश दिया।

सूरत से भाजपा के विधायक पूर्णेश मोदी ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था कि Rahul Gandhi ने 2019 में एक चुनावी रैली में यह कह कर पूरे मोदी समुदाय की मानहानि की कि, ‘सभी चोरों का एक ही उपनाम मोदी कैसे है?’ कर्नाटक के कोलार में 13 अप्रैल 2019 को हुई चुनावी रैली में कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल  गांधी ने कथित तौर पर कहा था, ‘नीरव मोदी, ललित मोदी, नरेन्द्र मोदी… इन सभी का एक ही उपनाम मोदी कैसे है? सभी चोरों का एक ही उपनाम मोदी कैसे है?’ Rahul Gandhi ने कथित तौर पर जब यह टिप्पणी की थी तब वह कांग्रेस अध्यक्ष थे। इससे पहले गांधी अक्तूबर 2019 में अदालत में पेश हुए थे और उन्होंने इस टिप्पणी के लिए खुद को दोषी नहीं माना था।

ये भी पढ़ें : UP: बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 61 नावें- 69 मेडिकल टीमें मुस्तैद, NDRF-SDRF रेस्क्यू में जुटी

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles