IPL
IPL

राहुल गांधी को फिर मिल सकती है कांग्रेस की कमान, IYC ने पारित किया प्रस्ताव

नई दिल्ली : भारतीय युवा कांग्रेस (IYC) ने सोमवार को राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को एक बार फिर कांग्रेस अध्यक्ष (Congress president) नियुक्त करने का प्रस्ताव पारित किया है।

प्रस्ताव IYC की राष्ट्रीय कार्यकारिणी द्वारा पारित किया गया है, जिसमें कहा गया है कि इस कदम से पार्टी मजबूत होगी और पूरे देश में कैडरों को सक्रिय किया जाएगा। कुछ हफ्ते पहले, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस और छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस ने भी इसी तरह के प्रस्ताव पारित किए है।

आज राष्ट्रीय कार्यकारिणी में, IYC संयुक्त रूप से एक प्रस्ताव पारित करता है कि राहुल गांधी को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (Indian National Congress) के संविधान के अनुसार अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (AICC) अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया जाना चाहिए। यह केवल संकल्प नहीं है, बल्कि प्रत्येक कांग्रेस कार्यकर्ता की आवाज़ है।

क्योंकि देश पुकारे राहुल गांधी

युवा कांग्रेस के राष्ट्रिय अध्यक्ष्य बी.वी. श्रीनिवास (B.V.Srinivas) ने ट्वीट करते हुए कहा कि भारतीय युवा कांग्रेस (Indian Youth Congress) के लाखो कार्यकर्ताओं की आवाज़ पर आज राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में जन-जन के नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को कांग्रेस पार्टी (Congress party) के तय संविधान अनुसार पार्टी का अध्यक्ष बनाये जाने के लिए प्रस्ताव पारित किया गया है, उन्होंने कहा कि इस समय देश राहुल गांधी को पुकार रहा है।

यूथ कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा कि युवा कांग्रेस अपने नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के साथ मजबूती से खड़ा है और राहुल के नेतृत्व और मार्गदर्शन में संगठन को मजबूत किया जाएगा। युथ कांग्रेस ने कहा कि राहुल की अध्यक्ष्य पद पर नियुक्ति पूरे देश में पार्टी कार्यकर्ताओं को उत्साहित करेगी।

बता दें कि युवा कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का उद्घाटन सोमवार सुबह राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने किया। गांधी ने युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय पदाधिकारियों और राज्य अध्यक्षों को सलाह दी कि वे धैर्य के साथ संगठन के लिए काम करें और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की विचारधारा से बिना किसी डर के लड़ें। कांग्रेस ने घोषणा की है कि सोनिया गांधी, जो वर्तमान में कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष हैं, उनके स्थान पर पार्टी के पूर्णकालिक अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया जून तक पूरी हो जाएगी।

गांधी परिवार के बाहर के नेता को अध्यक्ष बनाने की मांग

युवा कोंग्रेसियों ने राहुल को फिर से पार्टी की बागड़ोर सम्हालने की मांग की है, लेकिन अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि राहुल फिर से पार्टी अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठने के लिए तैयार हैं या नहीं। उन्होंने लोकसभा चुनाव परिणामों की जिम्मेदारी लेते हुए मई 2019 में कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफा देते समय राहुल (Rahul) ने गांधी परिवार के बाहर के नेता को अध्यक्ष बनाने की वकालत की थी। लेकिन कुछ महीनों के बाद ही अगस्त में सीडब्ल्यूसी ने एक बार फिर कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को पार्टी की कमान सौंप दी।

इसे भी पढ़े: मिथुन चक्रवर्ती को बड़ी जिम्मेदारी दे सकता है भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व

पिछले साल कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं (G-23) ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी में पूर्ण और सक्रिय नेतृत्व की मांग की थी।
इसके बाद, कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की एक बैठक में सोनिया ने अपने इस्तीफे की पेशकश की जिसके बाद सीडब्ल्यूसी ने उनके बने रहने का प्रस्ताव पारित किया, हालांकि उसी बैठक में पार्टी अध्यक्ष के चुनाव पर भी सहमति बनी।

Related Articles

Back to top button