राहुल गांधी ने खुद को किया साबित, अब तो बस ताजपोशी का है इंतजार …

0

दरअसल, संसद में कांग्रेस विपक्ष की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है। ऐसे में राहुल को सिर्फ अपनी पार्टी के नेताओं को ही नहीं बल्कि अपने साथ खड़ी अन्य विपक्षी पार्टियों के नेताओं के सामने भी खुद को एक जिम्मेदार नेता साबित करने की जरूरत है और वह इस दिशा में बहुत तेजी से कार्यरत हैं।

यह भी पढ़ें: भाजपा को लेकर आरएसएस ने दिया बड़ा बयान, बंद हो गया विरोधियों का मुंह

कांग्रेस का भविष्य कैसा है ये तो कोई नहीं जानता लेकिन राहुल गांधी के रवैये यह स्पष्ट हो गया है कि आने वाले दिनों में वह पार्टी के सबसे बड़े नेता के रूप में दिखाई देने वाले हैं। अमेरिका में राहुल गांधी के संवादों से कई राजनीतिक विशेषज्ञों का तो यह भी कहना है कि राहुल का अमेरिका दौरा उनके राजनीतिक सफ़र की शुरुआत की पहले से तैयार की गई एक रणनीति है।

loading...
1
2
3
शेयर करें