बजट को लेकर राहुल गाँधी ने कहा सरकार ने सैनिको के साथ किया विश्वासघात

गांधी ने कहा कि बजट पूरी तरह से सरकार के मित्र पूंजीपतियों पर केंद्रित है और इसमें सीमा पर दुश्मन से जूझ रहे सैनिकों के हित में कुछ नहीं है।

नयी दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ( Former President Rahul Gandhi ) ने रक्षा बजट को लेकर सरकार पर फिर हमला करते हुए कहा है कि इसमें सिर्फ पूंजीपति मित्रों को लाभ पहुंचाने का काम हुआ है और देश की रक्षा में जुटे सैनिकों के साथ विश्वासघात किया गया है।

गांधी ने कहा कि बजट पूरी तरह से सरकार के मित्र पूंजीपतियों पर केंद्रित है और इसमें सीमा पर दुश्मन से जूझ रहे सैनिकों के हित में कुछ नहीं है। गांधी ने ट्वीट किया, मोदी के ‘मित्र’ केंद्रित बजट का मतलब है- विषम परिस्थितियों में चीन से जूझ रहे जवानों को सहायता नहीं। देश की रक्षा करने वालों के साथ विश्वासघात।

 

इससे पहले गुरुवार को भी राहुल गांधी ने बजट को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने आरोप लगाया था कि इस बजट में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों (MSME) के साथ विश्वासघात किया गया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, पीएम मोदी का पूंजीपति केंद्रित बजट का मतलब यह है कि संघर्ष कर रहे एमएसएमई को कम ब्याज पर कर्ज नहीं मिलेगा और जीएसटी में राहत भी नहीं दी जाएगी।

यह भी पढ़े: कुर्सी से हटने के बाद भी नहीं कम हुआ डोनाल्ड ट्रम्प का तानाशाही रवैय्या

Related Articles

Back to top button